साहित्य - Sangri Times

SPORTS

साहित्य

कविता: कदम बढ़ा रूक मत यह देश तेरा है

कविता: कदम बढ़ा रूक मत यह देश तेरा है

कदम बढ़ा रूक मत यह देश तेरा है
कौन तुझे एकता के लिए अंकित करेंगे
कौन तेरा रक्त तिलक कर विजयी करेंगे
कौन तेरा मार्गदर्शन कर होंसला अफजाई करेंगे
कदम बढ़ा रूक मत यह देश ते...

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का दीप प्रज्जवलन कर  किया शुभारंभ

जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का दीप प्रज्जवलन कर किया शुभारंभ

जयपुर।  मुख्यमंत्री गहलोत ने गुरूवार को 13वें जी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल का दीप प्रज्जवलन कर शुभारंभ किया। शुभारंभ के बाद डिग्गी पैलेस के फ्रंट लॉन में मौजूद साहित्यकारों, साह...

कविता: रात की तन्हाइयों मे ढूंढती एक शोर हूँ

कविता: रात की तन्हाइयों मे ढूंढती एक शोर हूँ

रात की तन्हाइयों मे
ढूंढती एक शोर हूँ
कभी लगता कहीं मैं हूँ नहीं
कभी मैं ही सब ओर हूँ
मैं हु साहिल
मैं हूं मंजिल
मैं हु मेरा रास्ता
जो खो जाए खुद म...