पटवारियों की परिक्षाओं में होगी राज्य के अधिकारियों की अग्निपरीक्षा



बाड़मेर 14 अक्टूबर ,देश की सबसे बड़ी परीक्षाओं में से एक राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा, रीट के संपन्न होने के बाद अब राजस्थान में बेरोजगारों के लिए एक और बड़ी भर्ती परीक्षा आयोजित करने जा रहा है। राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड की ओर से 23 से 24 अक्टूबर 2021 को आयोजित होने वाली पटवार सीधी भर्ती परीक्षा- 2021 की सभी तैयारियां पूरी कर ली गईं हैं। इस परीक्षा के लिए कुल 15 लाख 62 हजार 905 अभ्यर्थी पंजीबद्ध हैं जिसमें 5 लाख 2 हजार 307 महिला अभ्यर्थी पंजीबद्ध हैं।

पटवारी परीक्षा 23 अक्टूबर शनिवार को प्रथम चरण की परीक्षा सुबह 8:30 से 11:30 तथा इसी दिन दोपहर बाद द्वितीय चरण की परीक्षा दोपहर 2:30 बजे से सायं 5:30 बजे तक आयोजित होगी।

24 अक्टूबर रविवार को तृतीय चरण की परीक्षा प्रातः 8:30 से 11:30 तथा इसी दिन चतुर्थ चरण की परीक्षा दोपहर बाद 2:30 बजे से सायं 5:30 बजे तक आयोजित होगी।

राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड सचिव हरि प्रसाद शर्मा ने बताया कि परीक्षा केन्द्र में अवांछित सामग्री ले जाने का प्रयास करने, नकल करने, अभ्यर्थी के स्थान पर फर्जी अभ्यर्थी बैठाने अथवा प्रयास करने वाले अभ्यर्थियों की परीक्षा निरस्त की जाकर बोर्ड द्वारा आगामी समय में आयोजित होने वाली परीक्षाओं में एक निश्चित अवधि से लेकर आजीवन अवधि तक के लिए प्रतिबंधित किए जा सकते हैं। उन पर राजस्थान सार्वजनिक परीक्षा (अनुचित साधनों के उपयोग की रोकथाम) अधिनियम 1992 के अन्तर्गत एफ.आई. आर भी दर्ज करवाई जाएगी।

बोर्ड द्वारा परिक्षार्थियों को सलाह दी गई है कि कोरोना गाइडलाइन की पालना करें एवं बोर्ड द्वारा निर्धारित ड्रेस कोड में ही परीक्षा केन्द्र पर आएं। परीक्षा केन्द्रों पर किसी प्रकार के कीमती सामान, आभूषण एवं परम्परागत आभूषण, मोबाइल या सभी प्रकार के वर्जित इलेक्ट्रॉनिक सामान अथवा ऐसी वस्तुएं जो परीक्षा केन्द्र में प्रवेश के समय साथ ले जाने की अनुमति नहीं है।

निष्पक्ष, पारदर्शी एवं शुचितापूर्ण तरीके से परीक्षा सम्पन्न कराने के दृष्टिगत निर्धारित नॉर्मस अनुसार फ्लाइंग स्क्वाड में सभी जिलों के राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी, राजस्थान पुलिस सेवा के अधिकारी एवं वरिष्ठ शिक्षा अधिकारी, आन्तरिक सर्तकता दल, प्रत्येक केन्द्र पर ऑब्जरवर आदि लगाए जाएंगे, जो स्वच्छ एवं पारदर्शी तरीके से परीक्षा सम्पन्न कराने के लिए उत्तरदायी होंगे तथा उप संयोजकों, केन्द्राधीक्षकों परीक्षा कक्ष अभिजागरों, परीक्षा से सम्बद्ध सरकारी एवं प्राइवेट कार्मिक पर कड़ी निगरानी रखेंगे। इसके अतिरिक्त परीक्षा केन्द्रों के आस-पास की संदिग्धावस्था वाले व्यक्तियों और उनके सहयोगियों के विरुद्ध भी कठोर कानूनी कार्यवाही इन सतर्कता दलों द्वारा की जाएगी।



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें