फिल्म समीक्षा : दस्यु ददुआ की ज़िन्दगी से इंस्पायर्ड है फिल्म... - Sangri Times

SPORTS

फिल्म समीक्षा :  दस्यु ददुआ की ज़िन्दगी से इंस्पायर्ड है फिल्म 'तानाशाह'

फिल्म समीक्षा : तानाशाह

निर्देशक: रितम श्रीवास्तव

आर्टिस्ट: दिलीप आर्या

रेटिंग्स:  तीन स्टार्स

बॉलीवुड में पिछले कुछ वर्षों में रियलिस्टिक सिनेमा का ट्रेंड चल पड़ा है। कई फिल्मों में हिंसा, मार धाड़, गैंग्स, गोलीबारी, माफिया, डकैती जैसे विषय दिखाए गए हैं। इस सप्ताह रिलीज़ हुई

निर्देशक रितम श्रीवास्तव की फिल्म तानाशाह भी एक ऐसी ही रियलिस्टिक मूवी है, जिसमें समाज के कुछ कड़वे सच को प्रभावी ढंग से दिखाने का प्रयास किया गया है।

यह फिल्म रियल घटनाओं से प्रेरित बताई जा रही है और यूपी एवं एम पी

में लगभग तीस साल तक बागी जीवन गुजारने वाले दस्यु ददुआ की ज़िन्दगी से इंस्पायर्ड है। दिलीप आर्या ने फिल्म 'तानाशाह' में मुख्य भूमिका निभाई है और फिल्म देखते समय उनकी अभिनय क्षमता उभर कर सामने आती है।

दस्यु ददुआ अपनी बहन और पिता की बेदर्दी से हत्या का बदला कैसे लेता है, फिल्म में यह प्रभावी ढंग से दिखाने की कोशिश की गई है। फिल्म में उसकी रॉबिनहुड जैसी इमेज को भी उभारने का प्रयास किया गया है।

निर्माता मुकेश कुमार की इस फिल्म के निर्देशक रितम श्रीवास्तव मशहूर निर्देशक प्रकाश झा के साथ काम करने का अनुभव रखते हैं, सम्भवतः इसी लिए नए कलाकारों की मौजूदगी के बावजूद उन्होंने फिल्म को कहीं भी कमजोर नहीं होने दिया है।

अभिनेता दिलीप आर्या ने ददुआ के लीड रोल को बड़ी ही शिद्दत से जिया है। फिल्म देखते समय एहसास होता है कि वर्षों की मेहनत इस फिल्म को बनाने में लगी होगी। डकैतों की बागी ज़िन्दगी और उनके रहन-सहन के तरीके को दिलीप आर्या ने सच्चाई के बेहद करीब पेश किया है, जो बेहद मुश्किल और चैलेंजिंग था। फिल्म के सारे दृश्य रोमांच भरे रहे हैं। दुर्गम पहाडिय़ों और जंगल की लोकेशन फिल्म के विजुअल को स्तरीय बना देती है। खास तौर पर फिल्म का बैक ग्राउंड स्कोर तारीफ के काबिल है क्योंकि एक थ्रिलर फिल्म में जिस तरह के म्यूज़िक की जरूरत थी वैसा ही संगीत रखा गया है।

फिल्म में दिलीप आर्या का किरदार भले ही एक डाकू और एक बागी का है लेकिन कई बुराइयों के बावजूद उसमे कई अच्छाइयां भी हैं। वह निहत्ते पर गोली नहीं चलाता, औरतों लड़कियों की इज्जत पे हाथ नहीं डालता, शराब नहीं पीता।

आपको बता दें कि चित्रकूट के रहने वाले शिव कुमार पटेल उर्फ ददुआ का लगभग तीन दशकों तक राज था। उसी दस्यु के सरगना ददुआ के जीवन पर आधारित है फिल्म 'तानाशाह' जो 7 फरवरी को सिनेमाघरों में रिलीज हुई है। फतेहपुर निवासी दिलीप आर्या का नाम फिल्म में दद्दू रखा गया है। भले ही दिलीप आर्य की यह पहली फिल्म है, लेकिन वह भारतेंदु नाट्य अकादमी लखनऊ के स्टूडेंट रहे हैं और रंगमंच पर उन्होंने कई भूमिकाएं निभाई हैं।वहीं फिल्म के बाकी सभी कलाकार भी रंगमंच से जुड़े रहे हैं। फिल्म में दिलीप आर्या के अलावा इंद्रनील भट्टाचार्य, जितेंद्र शास्त्री, रवि खानविलकर, मनोज जोशी, प्रणय नारायण, तनमय रंजन इत्यादि ने भी बेहतर एक्टिंग की है।फ्रेम टू फ्रेम पिक्चर्स के बैनर तले बनी फिल्म तानाशाह का वितरण स्क्रीनशॉट मीडिया एंड एण्टरटेंमेंट ग्रुप के इसरार अहमद ने किया है। फिल्म के प्रोड्यूसर हैं फ्रेम टू फ्रेम एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड,मलिक मूवीज, रिजवान अहमद, रेहान अहमद

एक उम्दा स्क्रिप्ट, बेहतरीन डायरेक्शन, दिलीप आर्या की अद्भुत अदाकारी और एक रियलिस्टिक सिनेमा होने की वजह से फिल्म तानाशाह को एक बार अवश्य देखना चाहिए। 

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.