भारतीय स्किल डवलपमेंट युनिवर्सिटी में प्रथम सेमेस्टर की पूरी... - Sangri Times

SPORTS

भारतीय स्किल डवलपमेंट युनिवर्सिटी में प्रथम सेमेस्टर की पूरी ट्यूशन फीस माफ

एक तरफ जहाँ पूरा विष्व कोरोना जैसी महामारी से लड़ रहा है वहीं दूसरी और मध्यम वर्गीय परिवारों पर दोह री मार पड़ रही है। उनकी आर्थिक स्थिति चरमराने लगी है लोगों को अपने बच्चों की पढ़ाई और उनकी फीस की चिन्ता भी सताने लगी है। लेकिन इस विपत्ति मंे कई जाने-माने शैक्षणिक संस्थान आगे आए हैं, जो अपने यहाँ प्रवेष लेने वाले विद्यार्थियों को निःषुल्क षिक्षा का आॅफर दे रहें हैं। इसी क्रम में महिन्द्रा सेज, जयपुर स्थित भारतीय स्किल डवलपमेंट युनिवर्सिटी, जयपुर जो कि राजेन्द्र एण्ड उर्सुला जोषी चेरिटेबल टंस्ट द्वारा वित्तपो िषत है ने भी अच्छी पहल की है। प्रो. अचिन्तय चैधरी, पे्रसिडेन् ट भारतीय स्किल डवलपमेंट युनिवर्सिटी ने एक प्रेस वार्ता मे बताया कि यु.जी.सी. नियमों के तहत स्थापित यह विष्वविद्यालय स्विस डय ूल सिस्टम पर आधारित है। विष्वविद्यालय में आधुनिक व एडवांसड मषीनों पर एवं एक मषीन पर केवल एक विद्यार्थी के प्रषिक्षण की सुविधा है। इस समय कोरोना जैसी महामारी में सभी क्षेत्रो के साथ-साथ षिक्षा का क्षेत्र भी बहुत प्रभावित हुआ है। कोई भी विद्यार्थी फीस की वजह से षिक्षा से वंचित नही रहे इसलिए भारतीय स्किल डवलपमेंट युनिवर्सिटी ने अपने सभी अध्ययनरत व नए प्रवेष लेने वाले विद्यार्थियांे की इस सेमेस्टर की सम्पूर्ण टय ूषन फीस माफ करने का फैसला किया है। आर.यू. जे.सी. टी. द्वारा प्रस्तावित इस छूट का लाभ ऐसे विद्यार्थियों को मिलेगा जिनके माता-पिता की वार्षिक आमदनी 4 लाख से नीचे हो। इसलिए ऐसे विद्यार्थियों के लिए यह सुनहरा मौका है जो एक स्किल्स डिग्री प्राप्त करके अपना सुनहरा भविष्य बनाना चाहते हैं। भारत की प्रथम पूर्णतया स्किल्स युनिवर्सिटी होने का गौरव प्राप्त युनिवर्सिटी में विभिन्न अलग-अलग विषयों में बैचलर आॅफ वोकेषन, मास्टर आॅफ वोकेषन आदि मंे स्किल्स डिग्री कोर्स करवाऐ जाते हैं। सभी कोर्स इण्डस्टंी की माँग के अनुसार है और विद्यार्थियों को प्रत्येक छःमहिने के सेमेंस्टर के बाद छःमहिने की इन्टर्नषिप स्टाइपण्ड के साथ प्रदान की जाती है।
गौरतलब है कि बी.वाॅक. डिग्री यु.जी.सी. द्वारा मान्यता प्राप्त डिग्री है जिसमें प्रेक्टिकल व इन्टर्नषिप पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है और विद्यार्थी को प्रथम वर्ष मे डिप्लोमा, द्वितिय वर्ष में एडवांसड डिप्लोमा व तृतीय वर्ष में डिग्री प्रदान की जाती है और इस डिग्री के बाद विद्यार्थी इण्डस्टंीज में रोज गार के अवसर, अपने स्वयं का रोज गार स्थापित करने का अवसर, बैचलर आॅफ वोकेषन के बाद मास्टर आॅफ वोकेषन करके हायर एजुकेषन में कैरियर या फिर अन्य ग्रेजुएषन कोर्साे की तरह आई.ए.एस., बैंक या रक्षा सेव ाओं में समान अवसर प्राप्त कर सकते हैं।

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

loading...