जयपुर इंटरेनशनल फिल्म फेस्टीवल-जिफ के दूसरे दिन 25 देशों की 56 फ़िल्में ऑनलाइन दिखाई

जयपुर इंटरेनशनल फिल्म फेस्टीवल-जिफ के दूसरे दिन 25 देशों की 56 फ़िल्में ऑनलाइन दिखाई गई. इनमें भारत से 107 मिनट की पृत्वी कोनउर के निर्देशन में बनी वेहर इज पिंकी, बिशिख तालुकदार की तितली (129), विष्णु  देव की स्माइल (77) और अविक रॉय की बंगाली फिल्म मास्टरमोसाई (121) हैं। चेक रिपब्लिक से दारिया, फ्रांस से द सांग ऑफ़ द सी, रशिया से हैप्पी बर्थडे, कोरिया से स्माइली जैसी फ़िल्में हैं. डॉक्युमेंट्री  फीचर फिल्मों में भारत से इन्वेस्टिंग लाइफ और पाने चेक तथा ऑस्ट्रेलिया से ओसियन टू स्काई  और अकेरिका से डायग्नोस्टिक हेल्थकेयर है.


 
गौरतलब है की जिफ में 44 देशों की 266 फ़िल्में दिखाई जा रही है. विश्व भर की शार्ट और लॉन्ग स्टोरीज को हजारों फिल्म लवर्स और दर्शक रोजाना एन्जॉय कर रहे हैं.
 

 (Sunday) की ख़ास फ़िल्में

आज की फीचर फिक्शन फिल्मों में भारत से अनीश उरमबील ओटटचोडयम और अशोक नाथ की कांथी तथा ईरान से द रिवर्सड पथ, फ्रांस से फायर्स इन द डार्क, कनाडा से द कलर ऑफ़ स्प्रिंग, चायना से विद यू और टू चेयर इन द वार प्रमुख हैं. वहीं डाकूमेंट्री फीचर फिल्मों में  नार्वे से ए बिहेवेव  इन माय हार्ट, अमेरिका से द न्यू अबॉलीट्यूनिस्ट्स और भारत से द  लास्ट ट्रायब प्रमुख हैं.

 राजस्थान से कामरान टाक  की शार्ट फिल्म  ‘सपोज’ और सुनील प्रसाद शर्मा की ‘तू छोड़ ना उम्मीदों का दामन’ सांग की ऑनलाइन स्क्रीनिंग आज रविवार को होगी.

 

Synopsis

 
The Reversed Path

एमकान एक 17 वर्षीय किशोरी है, जिसने कई वर्षों से अपने पिता को नहीं देखा है और उसकी माँ एक कारखाने में देर रात तक काम करती है। उसके पास एक छोटा रिकॉर्डिंग कैमरा है और वह फिल्म बनाने का फैसला करती है, और  लक्ष्य को प्राप्त करने की पूरी कोशिश करने की कहोने है.

 Fires In The Dark

सातवीं शताब्दी की कहानी है ये जिसमें  समुद्र और पहाड़ के बीच बसे एक छोटे से गाँव में स्थित, पंद्रह साल के एक युवा एलन के पिता उसे  बेच दिया। एलन को अपने पिता की जगह लेने के लिए मजबूर किया जाता है और अपने परिवार का समर्थन करने के लिए संघर्ष करने की कहानी है ये.

 
Vagabonds

चार लोगों की कहानी है जो "भूकंपीय" मुठभेड़ करने जा रहे हैं। चारों को भविष्य में किसी तरह की कोइ आशा नहीं है की कहानी है.

The Last Tribe

दक्षिण-पूर्वी भारत के चल रहे चरमपंथी युद्ध में, अलगाववाद ने चरमपंथियों को मुख्य भूमि भारत की सबसे आदिम जनजाति को शरण देने के साथ-साथ छिपाने के लिए आदर्श स्थिति प्रदान की है।

 

एक वन्यजीव जीवविज्ञानी के लेंस के माध्यम से भारत के युद्ध क्षेत्र में पर्यावरणीय संकट का अध्ययन है , जो अब सैन्य अभियानों की कमान संभाल रहा है।

 
A Beehive in My Heart

एक बीहाइव इन माई हार्ट एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म है जो कैटलन के मधुमक्खी पालक जोसेफ मारिया गार्सिया और उनकी मधुमक्खियों को चित्रित करती है। मानव गतिविधि के विभिन्न रूपों के कारण मधुमक्खियां दबाव में हैं। सरल शब्दों में, गार्सिया एक मधुमक्खीपालक के रूप में अपने काम के बारे में बात करता है, और पृथ्वी पर तापमान बढ़ने पर मधुमक्खियों को जीवित रखने के संघर्ष के बारे में और किसानों के बीच कीटनाशकों का उपयोग गुंजाइश में बढ़ जाता है। फिल्म में मानवीय संस्थापकों और जानवरों और पौधों की छवियों के साथ मधुमक्खी और मधुमक्खियों के काम की तस्वीरें सामने आती हैं, जो आसपास की भूमि में रहती हैं और बंद होती हैं।

 कैसे देखे फ़िल्में ?

फिल्मों को देखने के लिए दर्शकों के लिए यूएफओ (UFO) के प्लेक्सिगो (Plexigo) एप को डाउनलोड करना होगा. प्लेक्सिगो एप गूगल प्ले स्टोर या एप्पल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। फ़िल्में देखने के लिए रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है। दर्शकों की अपील पर जिफ ने निर्णय लिया है की शुक्रवार वाली फ़िल्में अब 19 जनवरी तक कभी भी देखी जा सकती हैं. लेकिन आने वाली तारीख की फ़िल्में उसी तारीख से ही ऑनलाइन उपलब्ध होगी. लेकिन उसके बाद 19 जनवरी तक लाइव रहेगी.


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें