जिफ के लिये 6 श्रेणियों में नामांकित फिल्मों की दूसरी सूची जारी



 जयपुर : कोरोना महामारी की शंका और सवालों के बीच, 14वें जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फेस्टीवल जिफ का आयोजन अगले साल 7 से 11 जनवरी 2022 को हायब्रिड मोड में होने जा रहा है।

आयोजकों ने रविवार को जारी की गई दूसरी सूची में 6 श्रेणियों में 30 देशों की 600 फिल्मों में से, 14 देशों की 58 फिल्मों का चयन किया है। चयनित फिल्मों में 29 भारतीय फिल्में हैं, वहीं इतनी ही फिल्में विदेशों से हैं। गौरतलब है कि इनमें तीन फिल्में होस्ट स्टेट राजस्थान से हैं, जिसमें डॉ. भवानी सिंह राठौड़ की एक राजपूत किसान, आर.जे मोहित की फिल्म दा लास्ट कॉल और हेमन्त सीरवी निर्देशित फिल्म आटा शामिल हैं।

जिफ प्रवक्ता राजेन्द्र बोड़ा ने जानकारी देते हुआ बताया कि प्रतियोगिता के लिए 6 श्रेणियों में चयनित फिल्मों में 12 फीचर फिक्शन फिल्म | 3 डॉक्यूमेंट्री फीचर फिल्म | 37 शॉर्ट फिक्शन फिल्म |4 शॉर्ट डॉक्यूमेंट्री फिल्म |1 शॉर्ट एनिमेशन फिल्म और 1 सॉन्ग है और इनमें 3 स्टूडेंट्स फिल्मस शामिल हैं।

7 नवम्बर को जारी पहली सूची में 10 श्रेणियों में 82 देशों की 1500 फिल्मों में से 52 देशों की 182 फिल्मों का चयन हुआ था।

जिफ फाउंडर डायरेक्टर हनु रोज ने बताया कि फिल्म सब्मिशन को लेकर जहां समूचे विश्व से उत्साहित कर देने वाला माहौल रहा, वहीं कोरोना और अब इसके नए रूप ओमिक्रॉन की खबरों के चलते जयपुर आने वाले फिल्मकारों के उत्साह और रुचि में गिरावट आई है, लेकिन खुशखबरी यह है कि फिल्म प्रेमी अपनी पसंदीदा फ़िल्में देखने को बेताब हैं।

विश्व प्रसिद्ध फिल्म फेस्टिवल जिफ में विश्व भर के कई दिग्गज निर्माता - निर्देशकों की फिल्मों का चयन हुआ है। चयनित फीचर फ़िल्मों में पोलेंड से आई फिल्म लीडर, यूनाइटेड स्टेट्स की डेंडेलिओन सीज़न, चीन से डेंगर एंड आई, कनाडा से डंकी हैड, स्पेन से ऑल्टर, चीन से सुंजी कम ऑन, बर्थडे एडवेंचर प्लान तथा वेटिंग फॉर दा वेटलैण्ड सरीखी फिल्में शामिल हैं।

वहीं यह जानना भी सुखद है चुनी गई स्वदेशी फिल्मों में लोकप्रिय अभिनेता यशपाल शर्मा निर्देशित फिल्म दादा लखमी शामिल है, जो हरियाणा के लोक कलाकार पण्डित लखीमचन्द की संगीतमय यात्रा पर आधारित है।

वहीं, पद्म श्री और राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीत चुके निला मदहब पाण्डा की फिल्म यस्टरडेज़ पास्ट, जो एक युवा गुनु की कहानी है, जो अतीत की यादों से जूझ रहा है और अपने खोये हुए परिवार से फिर मिलना चाहता है। यह फिल्म मानवीय संवेदनाओं और इमोशंस को बहुत ही काव्यात्मक अंदाज़ में बयां करती है।

डंकी हैड एक असफल लेखिका मोना की कहानी है, जो अपने बीमार सिख पिता की देखभाल करने आती है, लेकिन तब कहानी में कई मोड़ आते हैं। गौरतलब है कि फिल्म की एग्ज़िक्यूटिव प्रोड्यूसर हैं जानी – मानी फिल्मकार दीपा मेहता। वहीं नीरज ग्वाल की फिल्म 4 सम भी चुनी गई है।

अब आती है फिल्म समारोह की मेजबानी कर रहे रंगीले राज्य राजस्थान की, जहां की फिल्म आटा एक शादीशुदा दंपती की कहानी है। भैरा और फूलन, जिन्हें अन्तर्जातीय विवाह के चलते समाज सज़ा देता है कि उन्हें गांव में कोई काम या खाना नहीं देगा। फिल्म अन्तर्जातीय विवाह के गहरे असर और समाज के क्रूर चेहरे की सच्चाइयों को उजागर करती है।

21 दिसम्बर 2021 को नामांकित फिल्मों की तीसरी और अंतिम सूची के साथ ही जिफ 2022 का फिल्म स्क्रीनिंग शेड्यूल जारी किया जाएगा।



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें