चौदहवें जयपुर इंटरनेशल फिल्म फैस्टिवल में इस बार चायना बनेगा गेस्ट कंट्री, भारत बनेगा कई फिल्मों के वर्ल्ड प्रीमियर का गवाह



जयपुर। गुलाबी नगर से शुरू होकर देश-दुनिया के सिनेमा फलक पर पहचान बनाने वाला जयपुर इंटरनेशनल फिल्म फैस्टिवल ‘जिफ’ इस साल अपनी स्थापना के चौदहवें वर्ष का जश्न माने की तैयारी में है। जिफ के फाउंडर डायरेक्टर हनु रोज ने बताया कि इस बार ये फैस्टिवल 7 से 11 जनवरी तक (at Inox GT Central) हाईब्रिड मोड (ऑफ लाइन-ऑन लाइन) पर आयोजित किया जाएगा।

जिफ में हर साल एक देश को ‘गेस्ट कंट्री’ बनाए जाने की परम्परा रही है। फैस्टिवल में इस गेस्ट कंट्री से आने वाले फिल्म निर्माताओं के सम्मान के अलावा उस देश की फिल्मों की विशेष रूप आमन्त्रित अतिथियों के समक्ष स्क्रीनिंग की जाती है। इस साल चौदहवें समारोह में चायना को गेस्ट कंट्री के रूप में मनोनीत किया गया है।

फैस्टिवल के दौरान 8 से 11 जनवरी तक चायना में निर्मित 19 फिल्मों की स्क्रीनिंग की जाएगी। खास बात ये है कि इनमें से अधिकांश फिल्में वर्ष 2021 के दौरान बनाई गई हैं इस वजह से भारत के सिने प्रेमी अनेक फिल्मों के तो वर्ल्ड प्रीमियर तो कुछ के इंडियन प्रीमियर के गवाह बनेंगे।

ये फिल्में होंगी खास

इस दौरान डेंग वेई की डॉक्यूमेंट्री फीचर फिल्म ‘फादर’, हाई ली यू की ग्रीटिंग्स, वेंग की फीचर फिक्शन लव लोबोरेटरी, जियो फेंग लॉंग की फीचर पिक्शन सॉरी आई फॉरगिव यू, हैन जेंग की शॉर्ट फिक्शन समर टैंगो ऐसी फिल्में होंगी जिन्हें देखना सिने प्रेमियों के लिए सुनहरा अवसर होगा।

चायना के फिल्मकारों में है उत्साह

जिफ के प्रवक्ता राजेन्द्र बोड़ा ने बताया कि चायना के गेस्ट कंट्री बनाए जाने से वहां के फिल्म निर्माताओं में खासा उत्साह है और सभी निर्माता उत्सव के दौरान भारत आने के लिए प्रयासरत हैं। फिल्म निर्माताओं का कहना है कि अगर कोरोना के नियमों में उनका देश और भारत रियायत देगा तो वो अवश्य ही अपनी फिल्मों के साथ आना पसंद करेंगे अन्यथा उनकी अनुपस्थिति में फिल्मों के विशेष शो को वो ऑनलाइन देखकर जश्न मना लेंगे।

अब तक हुआ 52 देशों की 240 फिल्मों का चयन

जिफ के फाउंडर डायरेक्टर हनु रोज ने बताया कि इस पांच दिवसीय समारोह के लिए अब तक 52 देशों की 240 फिल्मों का चयन किया जा चुका है। 21 दिसम्बर को इसकी तीसरी और अन्तिम सूची जारी की जाएगी जिसमें विभिन्न देशों की करीब 20 फिल्मों का और चयन किया जाएगा। इस तरह इस समारोह में इस बार कुल 260 फिल्मों की स्क्रीनिंग की जाएगी।

इंटरनेशनल ज्यूरी ने किया चयन

इस साल कुल 52 देशों से 2100 फिल्में प्राप्त हुई थी जिसमें से इन फिल्मों का चयन 28 सदस्यों की इन्टरनेशनल फिल्म चयन समिति ने किया है। इनमें 2 सदस्य भारत से तो 26 सदस्य अमेरिका, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, पोलैंड, इंग्लैण्ड आदि देशों से हैं।



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें