राजस्थान उर्दू अकादमी की ओर से दो दिवसीय कुल हिंद सेमीनार का आगाज

- भाषाओं को सीखने के लिए मजहब की कैद नहीं होनी चाहिए। 

- नामचीन शायर शीन काफ निजाम ने की शिरकत।

राजस्थान उर्दू अकादमी जयपुर की ओर से दो दिवसीय कुल हिंद सेमीनार 'घर आंगन का शायर जां निसार अख्तर' का आगाज शनिवार को जवाहर कला केन्द्र के कृष्णायन सभागार में हुआ। कार्यक्रम का उद्घाटन जाने-माने शायर शीन काफ निजाम, हरिदेव जोशी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति ओम थानवी, इलाहबाद के प्रो. अली अहमद फातमी और ऑल इंडिया दीनी मदारिस बोर्ड के वाइस प्रेसिडेंट हसन मेहमूद कासमी ने किया। इस मौके पर रवीन्द्र मंच की प्रबंधक शिप्रा शर्मा भी मौजूद रही।  कार्यक्रम में शीन काफ  निजाम ने जां निसाह अख्तर की शायरी की तुलना फिराक साहब की शायरी से की। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि जिस्मानी तौर पर अख्तर साहब 1914 में पैदा हुए, लेकिन साहित्यक एतबार से उनका जन्म 1971 में हुआ। इस साल  'घर आंगन' की किताब आई और उसके बाद लोगों को उनके साहित्यक अंदाज के बारे में अच्छे से जानने का मौका मिला।  इस तरह के सेमीनार न केवल उर्दू के प्रचार-प्रसार के लिए खास है, बल्कि नामचीन हस्तियों के जीवन से भी रूबरू होने का मौका देती है। 

ओम थानवी ने कहा कि सिनेमा ने उर्दू के प्रचार-प्रसार में अहम योगदान निभाया। फिल्मों में गीत-संगीत के चलते उर्दू आम लोगों तक भी पहुंच पाई, लेकिन जिस तरह हिन्दी का प्रचार-प्रसार हुआ, उसके मुकाबले उर्दू के प्रति सरकारों के प्रयास कमजोर रहे।  महमूद हसन ने कहा कि उर्दू जबान तहजीब को सुधारने के लिए सबसे ज्यादा असरदार है। जबानों को सीखने के लिए महजब की कैद नहीं होनी चाहिए। 

देशभर के विशेषज्ञ आज करेंगे पत्र वाचन :

राजस्थान उर्दू अकादमी के प्रशासक और संभागीय आयुक्त समित शर्मा और अकादमी के सचिव मोअज्जम अली ने बताया कि कार्यक्रम के तहत सोमवार को जेकेके के कृष्णायन सभागार में सुबह 10 से शाम 5 बजे तक देशभर की नामचीन हस्तियां और शोधार्थी पत्र वाचन करेंगे। इनमें दिल्ली से प्रो. इब्ने कंवल, मुम्बई के शमीम तारिक, दिल्ली के खालिद अलवी, खालिद अशरफ, अहमदाबाद से प्रो. नाजिमा अंसारी, जयपुर से हुसैन रजा, कानपुर से हिना अफशां, गोवा से फौजिया रबाब, जयपुर से अब्दुल मन्नान और जोधपुर से इशराकुल इस्लाम माहिर के नाम शामिल है।

सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें