4 दिवसीय मरु महोत्सव का आगाज आज से

प्रभु श्री लक्ष्मीनाथजी की आरती से होगी शुरूआत,

छलक उठेगा लोक संस्कृति और परम्पराओं का महाकुंभ,

व्यापक स्तर पर की गई हैं तैयारियां,

साकार होगा - ‘‘नया साल, नयी उम्मीद, नया जश्न‘‘

जैसलमेर - विश्वविख्यात मरु महोत्सव का आगाज आज से होगा। राजस्थान पर्यटन विभाग तथा जैसलमेर जिला प्रशासन की ओर से आयोजित, चार दिन तक चलने वाले इस परम्परागत महोत्सव में अबकि बार कई नवीन और आकर्षक कार्यक्रमों की धूम रहेगी। इस बार का मरु महोत्सव नया साल, नयी उम्मीद, नया जश्न के संकल्पों को साकार करेगा।
जिला कलक्टर आशीष मोदी ने बताया कि मरु महोत्सव को लेकर व्यापक स्तर पर तैयारियां की गई हैं। मरु महोत्सव में आने वाले सैलानियों के लिए विभिन्न स्तरों पर व्यापक बन्दोबस्त सुनिश्चित किए गए हैं। 
निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मरु महोत्सव के पहले दिन 24 फरवरी, बुधवार को महोत्सव का आगाज शाम 6 बजे सोनार किला स्थित श्री लक्ष्मीनाथजी मन्दिर पर आरती से होगा। इसके बाद वहीं से शाम 6.30 बजे हेरिटेज वॉक होगी। यह वॉक लक्ष्मीनाथजी मन्दिर से शुरू होकर मुख्य बाजार से होते हुए गड़ीसर झील पहुँचेगी। हेरिटेज वॉक में सम्मिलित होने वाले प्रतिभागी साफा एवं स्थानीय वेशभूषा में हिस्सा लेंगे।
बुधवार शाम को 6 बजे गड़ीसर झील क्षेत्र में चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित होगी। हेरिटेज वॉक के शाम 7 बजे गड़ीसर झील पहुंच कर सम्पन्न होने पर चित्रकला प्रतियोगिता के परिणाम घोषित किए जाएंगे। 
बुधवार संध्या 7 से 7.30 बजे तक गड़ीसर झील में सामूहिक दीपदान उत्सव होगा। इसमें 21 हजार दीये जलाकर जल में प्रवाहित किए जाएंगे।
रात्रि 8 बजे शहीद पूनमसिंह स्टेडियम में बालीवुड कलाकार कैलाश खैर द्वारा सॉल-फुल प्रस्तुति का आकर्षक कार्यक्रम होगा। इसके बाद रात्रि 10 बजे स्थानीय रंगमंचीय कलाकारों द्वारा परम्परागत लोक नाट्य ’रम्मत’ का कार्यक्रम शुरू होगा, जो भोर होने तक चलेगा।

वॉर म्यूजियम में लेजर लाईट शो

मरु महोत्सव के अन्तर्गत चारों ही दिन वॉर म्यूजियम रोजाना रात्रि 11 बजे तक खुला रहेगा। इसमें लाईट एण्ड साउण्ड  शो होगा। महोत्सव के दौरान मोन्यूमेंट भी रात को 11 बजे तक खुले रहेंगे।

गड़ीसर झील में नाईट बाजार

मरु महोत्सव के मद्देनज़र गड़ीसर क्षेत्र में 24 से 27 फरवरी तक चाराें ही दिन नाईट बाजार लगेगा जो कि रात्रि एक बजे तक खुला रहेगा।  इसमें फूड स्टॉल्स, पपेट शो, जादू शो, बहुरूपिया कला आदि के कार्यक्रम होंगे। नाईट बाजार में कुल्हड़ में चाय-काफी, नाश्ता, हस्तशिल्प उत्पाद, कशीदाकारी, पेचवर्क, सतरंगी राली, जैसलमेरी पाषाण के जाली-झरोखे, बिना जामण के दूध से दही जमा देने वाला हाबूर का पत्थर आदि का प्रदर्शन व विक्रय होगा। 
इस दौरान प्री रिकार्डेड म्यूजिक, लोक कलाकारों की जगह-जगह मोरचंग, रावण हत्था, खड़ताल, ढोलक की लहरियों पर प्रस्तुतियां होंगी। सैलानियों के लिए कैमल राइडिंग होगी। इस दौरान पर्यटकों के लिए मिस मूमल एवं मिस्टर डेजर्ट की पांरपरिक वेशभूषा में फोटो खिंचवाने की भी व्यवस्था उपलब्ध रहेगी। 

सैलानियों का जमघट लगा

आज से शुरू होने जा रहे मरु महोत्सव को लेकर जैसलमेर में सैलानियों के आवागमन का प्रवाह तीव्र होता जा रहा है और बड़ी संख्या में सैलानियों का जमघट लगा हुआ है।

सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें