शनिवार को दिन भर जारी रहा पानी अभियान का कारवाँ, बरसती आग में... - Sangri Times

SPORTS

शनिवार को दिन भर जारी रहा पानी अभियान का कारवाँ,  बरसती आग में गांव-ढांणियों में पहुंचा प्रशासन

पेयजल और पशु चारे से जुड़ी व्यवस्थाओं की जानी हकीकत,

दो दर्जन से अधिक अधिकारियों ने 50 से अधिक ग्राम पंचायतों में किया औचक निरीक्षण

जैसलमेर: सीमावर्ती रेगिस्तान में मीलों तक पसरे हुए जैसलमेर जिले में जिला कलक्टर नमित मेहता की पहल पर शुरू पानी अभियान की आशातीत सफलता के बाद शनिवार को इसका दूसरा चरण पूरा हुआ।
इसमें दो दर्जन से अधिक प्रशासनिक और विभागीय अधिकारियों ने भीषण गर्मी के बीच जिले के विभिन्न उपखण्ड क्षेत्रों की 50 से अधिक ग्राम पंचायतों का दौरा किया और गांव-ढांणियों तक पहुंच कर पेयजल व्यवस्था की हकीकत जानी और इनके निर्णायक समाधान का खाका तैयार किया। इसके साथ ही जिले में पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था की भी जानकारी ली गई।
उल्लेखनीय है कि जिला कलक्टर नमित मेहता की पहल पर कुछ दिन पूर्व जिले के प्रशासनिक ओर विभागीय अधिकारियों ने दिन भर का अभियान चलाकर जिले की 50 से अधिक ग्राम पंचायतों में पेयजल प्रबन्धोें का आकस्मिक निरीक्षण किया था।
इसका यह परिणाम रहा कि ग्रामीणों के लिए अर्से से जारी पेयजल समस्याओं का खात्मा हुआ और पानी से जुड़ी शिकायतों के त्वरित निस्तारण से ग्रामीणों से राहत का अहसास किया।
शनिवार को जिला कलक्टर नमित मेहता के निर्देश पर इन अधिकारियों ने भीषण गर्मी के मौजूदा दौर मेें पेयजल की आवश्यकता के मद्देनज़र गांवों और ढांणियों में पहुंचकर पेयजल स्रोतों को देखा, पेयजल वितरण के प्रबन्धों की जानकारी ली और ग्रामीणों से चर्चा कर पानी की समस्याओं को सुना तथा इनके समाधान के लिए व्यवहारिक प्रक्रिया को अपनाया।
वरिष्ठ प्रशासनिक, राजस्व, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज तथा जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारियों ने अपने को आवंटित दो से तीन ग्राम पंचायतों में शनिवार सुबह से भ्रमण आरंभ किया और गांव-गांव, ढांणी-ढांणी पहुंचकर वहाँ की पेयजल व्यवस्थाओं को देखा तथा कई स्थानों पर मौके पर ही पेयजल तंत्र को दुरस्त कराया।

ग्रामीणों ने सराहा इस अभियान को
जिला कलक्टर नमित मेहता, अतिरिक्त आयुक्त(उप निवेशन) दुर्गेश बिस्सा, नगर विकास न्यास के सचिव अनुराग भार्गव, मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, उपायुक्त (उप निवेशन) देवाराम सुथार सहित जिले के उपखण्ड अधिकारियों, तहसीलदारों, विकास अधिकारियों तथा जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने जिले का दौरा कर 50 से अधिक ग्राम पंचायतों में दिन भर दौरा कर पेयजल प्रबंधों की जमीनी हकीकत जानी। ग्रामीण अंचलों में पेयजल प्रबन्धों के निरीक्षण को पहुंचे अधिकारियों से बातचीत में ग्रामीणों ने प्रशासनिक संवेदनशीलता भरे इस अभियान की सराहना की।

शताधिक ग्राम पंचायतों में हो चुका है निरीक्षण
जिला कलक्टर नमित मेहता ने बताया कि द्वितीय चरण में शनिवार को हुए अभियान के साथ ही अब तक जिले में 100 से अधिक ग्राम पंचायतों में पानी से जुड़ी समस्याओं के समाधान को रफ्तार मिली है।
कुछ दिन पूर्व चलाए गए अभियान के दौरान 50 ग्राम पंचायत क्षेत्रों में निरीक्षण के समय सामने आयी समस्याओं में से काफी समस्याओं का समाधान हो चुका है और इससे पेयजल प्रबन्धन में व्यापक सुधार के साथ ही जिले के ग्रामीण क्षेत्रों और दूरदराज की ढांणियों में रहने वाले लोगों को पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित हुई है। इस बार भी सामने आयी इन समस्याओं का जल्द से जल्द युद्धस्तर पर निस्तारण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि पानी के साथ-साथ पशुओं के लिए चारे की व्यवस्था का भी निरीक्षण कराया गया है।

शहरी क्षेत्र में भी हुआ निरीक्षण
जिला कलक्टर के निर्देश पर नगर परिषद के आयुक्त बृजेश राय एवं अन्य अधिकारियों ने शहर के विभिन्न वाडोर्ं का दौरा किया और इनमें पेयजल व्यवस्थाओं की जानकारी ली तथा सुधार के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

loading...