‘कलक्टर री पाती’ से पहुंचेगा जन-जन तक महिला सशक्तिकरण का संदेश

जिला कलक्टर आशीष मोदी की एक और जोरदार पहल,

बिटिया के जन्म पर माताओं को दिया जाएगा बधाई संदेश,

बधाई संदेश और कलक्टर री पाती का हुआ विमोचन

जैसलमेर, 06 जनवरी/जैसलमेर जिला कलक्टर आशीष मोदी ने जिले में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ संकल्प को मूर्त रूप देने तथा महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए एक और अभिनव पहल की है। राजस्थान में जैसलमेर जिले की यह अपनी तरह का पहला नवाचार होगा। 
इसके अन्तर्गत बिटिया के जन्म पर उनकी माता को जिला कलक्टर की ओर से बधाई संदेश ‘जैसाण री लाडली’ दिया जाएगा। इसी प्रकार जिला कलक्टर मोदी की ओर से आम जन को बेटियों के संरक्षण, पल्लवन और विकास तथा जिले में महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने एवं इससे संबंधित योजनाओं की जानकारी के व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए ‘कलक्टर री पाती’ के नाम से जिले में सरकारी मशीनरी के माध्यम से चिट्ठी भी दी जाएगी।

बालिका का जन्म गर्व की बात

जिला कलक्टर आशीष मोदी ने जिला कलक्ट्री सभागार में महिला अधिकारिता विभाग की ओर से प्रकाशित ‘कलक्टर री पाती’ और ‘बधाई संदेश’ का विमोचन किया और इसे अच्छा प्रयास निरूपित करते हुए बेटियों के संरक्षण और विकास के लिए हरसंभव प्रयास करना सभी का वैयक्तिक एवं सामाजिक फर्ज है। जिला कलक्टर ने कहा कि बालिका का जन्म परिवार के लिए गौरव और गर्व की बात है और इससे परिवार को खुशी होनी चाहिए कि उनके घर बेटी का जन्म हुआ है। 
विमोचन समारोह में जिला कलक्टर मोदी ने कहा की लड़का और लड़की समाज में बराबर हैं, हमें भेदभाव नहीं करना चाहिए। हमें बेटी को पढ़ाने और उसे समाज में उच्च दर्जा देने के लिए लोगों को प्रेरित करना चाहिए। 

योजनाओं और कार्यक्रमों से लाएं जीवनस्तर में बदलाव

मोदी ने विमोचन के दौरान उपस्थित सभी अधिकारियों से कहा कि आने वाले समय में बेटियों के जीवन में बदलाव लाने और महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए एकजुट होकर समर्पित प्रयासों में जुटना होगा। 
उन्होंने यह भी कहा कि जिनके घर में बेटी जन्म लेती है वहाँ हम सभी एक टीम बनाकर उसके परिवार को बधाई संदेश देने जाएं और उन्हें बेटी के सुलभ जीवनयापन, तथा सरकारी योजनाओं के बारे में बताएं। घर-घर जाकर बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का संदेश दें और जन व्यवहार तथा मानसिकता में परिवर्तन लाते हुए बताएं कि बेटियां किसी से कम नहीं। बेटियां हैं तो भविष्य सुनहरा है। 

परंपरागत मानसिकता में लाएं बदलाव

जिला कलक्टर ने कहा कि बेटियों के प्रति परंपरागत धारणा में बदलाव लाकर सकारात्मक चिन्तन और बेटियों के लिए प्रगतिकारी सकारात्मक सोच के साथ सामूहिक प्रयासों को बढ़ावा दिए जाने की आवश्यकता है ताकि लिंग भेद समाप्त होकर बेटियों के स्वस्थ और सुनहरे भविष्य निर्माण के सभी रास्तों और अवसरों का लाभ प्राप्त हो सके। 
जिनके घर बेटी का जन्म होगा उस परिवार को बधाई संदेश दिया जाएगा। यह बधाई संदेश बेटी के जन्म पर जिले में संचालित राजकीय अस्पतालों और प्रसूति केन्द्रोें पर बेटी की माँ को प्रदान किया जाएगा। 

यह है बधाई संदेश ‘जैसाण री लाडली’

’’बिटिया के जन्म पर आपके पूरे परिवार को बधाई और बिटिया को ढेर सारा प्यार। भारत सरकार के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के अन्तर्गत हम आपसे अनुरोध करते हैं कि आप अपनी बेटी की अच्छी परवरिश करें। उसकी सेहत का ध्यान रखें एवं खूब पढ़ाएं। उसे अपने सपने पूरे करने दें, ताकि वह आगे चलकर आपका सहारा बने और अपने जिले, प्रदेश और देश का गौरव बढ़ाए। शुभकामनाओं सहित ... - जिला कलक्टर, जैसलमेर’’

‘कलक्टर री पाती’का विमोचन

जिला कलक्टर आशीष मोदी ने महिला अधिकारिता विभाग द्वारा प्रकाशित ‘कलक्टर री पाती’ का भी विमोचन किया। ‘कलक्टर री पाती’ में महिला सशक्तिकरण और बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ को लेकर भावनात्मक संदेश दिया गया है। इसमें कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए भी हिदायतों का समावेश है।  ‘कलक्टर री पाती’ में मुख्यमंत्री राजश्री योजना, प्रसूति सहायता योजना, सुकन्या समृद्धि योजना आदि के बारे में भी जानकारी समाहित है।

मिलेगा प्रेरणादायी सम्बल

महिला अधिकारिता विभाग के उप निदेशक अशोक कुमार गोयल ने इस अवसर पर बताया कि जिला कलक्टर की पहल व प्रेरणा से प्रकाशित बधाई संदेश और कलक्टर री पाती के माध्यम से जिले में बालिकाओं के संरक्षण व विकास तथा महिला सशक्तिकरण की गतिविधियों को प्रेरणादायी सम्बल प्राप्त होगा। 

ये रहे उपस्थित

विमोचन के दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर ओ.पी. विश्नोई, मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, नगर विकास न्यास के सचिव अनुराग भार्गव, सहायक निदेशक (लोक सेवाएं) अशोक कुमार, नगर परिषद आयुक्त फतेहसिंह मीणा, जिला रसद अधिकारी जबर सिंह, लीड बैंक अधिकारी रामजीलाल मीणा, उपखण्ड अधिकारी दिनेश विश्नोई एवं अन्य समस्त विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें