आजादी के 73 साल बाद भी सड़क मार्ग से वंचित मोदरान की ढाणी के गांववासी

जालोर जिले का यह गांव मोदरान की ढाणी मोदरान गाँव तक  डामरीकरण सड़क मार्ग से नही जुड़ा है 

मोदरान। देशभर में भाजपा की सरकार बड़े बड़े वादे करती है कि हमने विकास के लिए कोई भी कसर नही छोड़ी है लेकिन यह सिर्फ दिखावे में होता है लेकिन हकीकत में कोई भी काम धरातल पर नही होता है ऐसा ही उदाहरण आज में हकीकत आपके सामने बता रहा हूँ 
देश के आज़ादी के 73 साल बाद भी मोदरान गांव  से मोदरान की ढाणी 8 किलोमीटर तक सड़क मार्ग से नही जुड़ी होने के कारण मोदरान की ढाणी के ग्रामीणों को 8 किलोमीटर पैदल ही कच्चे मार्ग से मोदरान रेलवे स्टेशन , ग्राम पंचायत मुख्यालय व  अस्तपाल, बच्चो को स्कूल आना जाना रहता है जिस से  ग्रामीणों को  बहुत भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
हमारे क्षैत्र में पिछले कई सालों से नेता लोग मोदरान की ढाणी को डामरीकरण सड़क से जोड़ने का वादा कर करके गए लेकिन किसी भी विधायक व सांसद महोदय ने आज तक मोदरान से मोदरान की ढाणी 8 किलोमीटर मार्ग को डामरीकरण सड़क मार्ग से जोड़ नही सके।  सिर्फ वादे करके गए लेकिन इस मार्ग पर आज़ादी के 73 साल बाद भी  ग्रामीणों ने  इस ग्राम में पक्की सड़क नही देखी 
इस ढाणी पर मोदरान ग्राम पंचायत का तेहरवा (13) वार्ड की कुल मतदाता 580 मतदाता सूची में नाम दर्ज है जो कि हमेशा विकास के लिए वोट करते हैं लेकिन इन मतदाताओ को आज तक इनके मत का कोई भी फायदा नहीं मिल रहा है।
वही  स्थानीय नेताओं से नही मिलने के कारण ग्रामीणों में बहुत ही नाराज़गी है 
ग्रामीणों का कहना है कि अबकी बार भाजपा की सरकार आई थी तो  मोदरान की ढाणी को डामर सड़क मार्ग से जोड़ने का वादा स्थानीय भीनमाल विधायक  पुराराम चौधरी करके गए थे लेकिन जोड़ने की बात दूर उन्होंने पिछले दस सालों में एकबार भी ग्रामीणों को अपना मुंह तक नही दिखाया।
  केवल चुनावो में पांच साल के बाद एक बार वोट मांगने जरूर आते हैं 
इस मोदरान की ढाणी पर हकीकत में विकास की गंगा कब होगी किसी को पता ही नही ।
इस सम्बन्ध में ग्रामीण कई बार उच्च अधिकारियों को भी डामरीकरण सड़क मार्ग बनवाने के लिए ज्ञापन भी भेजे लेकिन आज उच्च अधिकारियों के पास कोई जवाब नहीं है।

सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें