मृत्युभोज है सामाजिक अभिशाप - दिलसुख चौधरी - Sangri Times

SPORTS

मृत्युभोज है सामाजिक अभिशाप - दिलसुख चौधरी

कोटा: भारतीय समाज की सबसे बड़ी कुरीति मृत्यु भोज है जिसके खिलाफ जाट समाज धीरे-धीरे संपूर्ण राजस्थान में लामबंद हो रहा है तथा जगह-जगह इसके खिलाफ विभिन्न सामाजिक संगठनों द्वारा सामाजिक जागरूकता अभियान चलाकर इसको बंद करने के प्रयास जारी है !!
इसी मुहिम में राष्ट्रीय जाट तेजवीर सेना राजस्थान की अहम बैठक कोटा में आयोजित की गई जिसमें तेजवीर सेना के प्रदेश अध्यक्ष दिलसुख चौधरी तथा राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी दातारामगढ़ सीकर से विधायक प्रत्याशी तथा युवा जाट मंच के राष्ट्रीय संयोजक मुकेश गढ़वाल के नेतृत्व में आयोजित की गई जिसमें विभिन्न सामाजिक मुद्दों पर चर्चा की गई तथा वर्तमान में जाट समाज में प्रचलित सामाजिक कुरीति जिसमें मध्यम व गरीब वर्ग सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहा है इसको लेकर मृत्यु भोज को बंद करने के लिए उपस्थित सदस्यों द्वारा शपथ ग्रहण करवाया गया तथा यह शपथ ली गई कि राष्ट्रीय जाट तेजवीर सेना राजस्थान का कोई भी पदाधिकारी ना तो मृत्युभोज करेगा तथा ना ही मृत्यु भोज में शामिल होगा सबसे ज्यादा इस कुरीति का प्रचलन मेवाड़ तथा मारवाड़ क्षेत्र में है जिसके लिए विभिन्न जिलों में बैठक आयोजित करके समाज में जागरूकता कायम की जाएगी कोटा में आयोजित बैठक में राष्ट्रीय जाट तेजवीर सेना कोटा के जिलाध्यक्ष प्रवीण चौधरी तथा महाराजा सूरजमल समाचार पत्र के संपादक बृजेश चौधरी,  झालावाड़ तेजवीर सेना जिलाध्यक्ष जितेंद्र चौधरी,  बूंदी जिला अध्यक्ष जसवंत चौधरी तथा राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के युवा नेता तेजपाल चौधरी बूंदी सहित सैकड़ों समाज के बंधु उपस्थित थे !!
प्रदेश अध्यक्ष दिलसुख चौधरी ने प्रेस वार्ता में बताया कि आगामी समय में राजस्थान के प्रत्येक जिला मुख्यालय पर बैठक आयोजित करके प्रत्येक जिले में सामाजिक कुरीतियों को मिटाने के लिए अभियान चलाया जाएगा तथा समाज में जो भी ऐसी स्थितियां गरीब परिवार जो सामाजिक कुरीतियों में लिप्त है उनसे समझाइश करके उन्हें समाज की मुख्यधारा में जोड़ने के लिए प्रयास किए जाएंगे

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

loading...

RELATED NEWS

VIEW ALL
loading...