आज के दौर में डिजिटल इन्फ्लुएंसर का स्ट्रॉन्ग माइंड सेट व नॉलेजफुल... - Sangri Times

SPORTS

आज के दौर में डिजिटल इन्फ्लुएंसर का स्ट्रॉन्ग माइंड सेट व नॉलेजफुल होना बहुत जरुरी : दिव्युन नन्दा

एक ब्लॉगर व इन्फ्लुएंसर होने के नाते सही जानकारी लोगों तक पहुँचाना और सभी को अवेयर व अपडेट रखना ही मेरा काम है यह कहना है दिल्ली बेस्ड लाइफस्टाइल ब्लॉगर, इन्फ्लुएंसर व कंटेंट क्रिएटर दिव्युन नन्दा का। दिव्युन ने बताया कि वह सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर होने के साथ साथ फिलोसॉफर व साइकॉलोजिस्ट भी हैं। दिव्युन अपनी सोशल मीडिया प्रोफाइल के जरिए कई ब्रांड्स को एंडोर्स करती हैं और अपनी ऑडियंस को लगातार अपनी डिफरेंट, क्रिएटिव व इंफॉर्मेटिव पोस्ट के माध्यम से अप टू डेट रखती हैं।

उन्होंने बताया कि अभी हाल ही में मैंने जामिया मिलिया इस्लामिया से PGDCP की पढ़ाई पूरी की है और उस से पहले एमिटी से क्लीनिकल साइकोलॉजी में मास्टर्स की है। मैंने स्नातक दर्शनशास्र में किया जिस के लिए मैं सदा ही ईश्वर की शुक्रगुजार रहूंगी। दर्शनशास्र ने ही मुझे हर समस्या तथा स्थिति को देखने का एक नया नजरिया दिया। मेरा मानना है कि ईश्वर की बनाई इस दुनिया में यदि हम किसी चीज को बदल सकते हैं, तो वह है हम खुद। हर पल हम बढ़ रहे हैं, हर पल हमें यह मौका देता है कि हम अपने आप को थोड़ा ज़्यादा बेहतर बना सके और इसके साथ ही समाज व कुदरत को बेहतर बनाने के लिए अपना योगदान दें। 

दिव्युन ने आगे बताया कि मैं अपने इंस्टाग्राम पेज पर लोगों को आज की दुनिया में चल रहे लेटेस्ट ट्रेंड्स अपडेट्स व इन्फॉर्मेशन से रूबरू करवाती हूँ। आज मार्केट में ऐसी हजारों चीजें मिलती हैं जिनके बारे में हमें कोई जानकारी नहीं होती और कई बार हमें उन्हें इस्तेमाल करने का सही तरीका भी नहीं पता होता। इंटरनेट के विस्तार व यूज के कारण दुनिया छोटी लगती है और हम उन सब विषयों के बारे में जान पाते हैं जो दुनिया के दूर किसी कोने में हो रहे हैं।

मेरा ऐसा मानना है कि यदि हमें किसी क्षेत्र में अपने पैर जमाने है तो हमें उसे विस्तार से किसी पढ़ाई की तरह ही पढ़ना पढ़ेगा। बिना ज्ञान के हर कार्य अधूरा रह जाता है। इसलिए मैं भी अपने प्रोफेशन को पूरी इज्जत देते हुए, जहाँ भी मुझे लगता है कि मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा, सीखने की पूरी कोशिश करती हूँ। हर एक मेरे लिए ज्ञान अर्जित करने का नया अवसर लेकर आता है। सिर्फ हमारे फॉलोवर्स ही हमसे नहीं सीखते, हम भी उनसे बहुत सी नई बातें रोज सीखते हैं। जीवन में छोटे छोटे बदलाव करने से वह समृद्ध होता चला जाता है और हर व्यक्ति के पास जीवन से सीखे हुए तजुर्बों का भंडार होता है तथा हर किसी के पास एक दूसरे को देने के लिए बहुत कुछ होता है।

   

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

loading...

RELATED NEWS

VIEW ALL
loading...