अर्णव की गिरफ्तारी देश के चौथे स्तंभ पर हमला: एंटी करप्शन एंड क्राइम कंट्रोल कमिटी

मुंबई : रिपब्लिक भारत के प्रबन्ध सम्पादक, वरिष्ठ पत्रकार अर्णव गोस्वामी की महाराष्ट्र सरकार द्वारा द्वेष भावना से गिरफ्तारी पत्रकारिता पर हमला है। यदि राज्य सरकार इसमे कामयाब रही और इसका पत्रकारो ने एकजुट होकर विरोध नही किया तो वह दिन दूर नही जब हर राज्य मे ऐसा होगा। एंटी करप्शन एंड क्राइम कंट्रोल कमिटी के संस्थापक व सह राष्ट्रीय अध्यक्ष राजलाल सिंह पटेल व राष्ट्रीय संयुक्त सचिव पवन जैन पदमावत ने कहा कि किसी भी पत्रकार की गिरफ्तारी से पहले प्रेस काउंसिल के संज्ञान मे यह प्रकरण महाराष्ट्र सरकार को लाना चाहिए था लेकिन ऐसा नही हुआ। यदि इसी तरह पत्रकारिता का गला घोंटा जाता रहा तो लोकतंत्र के चौथे स्तंभ का अस्तित्व ही खतरे मे आ जायेगा। एंटी करप्शन एंड क्राइम कंट्रोल कमिटी के राजस्थान के प्रतापगढ़ जिला अध्यक्ष पीयूष सोमानी, जिला महिला अध्यक्ष प्रियंका सुरावत, जिला मीडिया सेल हितेश पालीवाल ने कहा कि आज देश की पत्रकारिता को पत्रकार सुरक्षा कानून की जरूरत है। अब पत्रकारो पर मुकदमे और हमले देश मे आम होते जा रहे है। एंटी करप्शन एंड क्राइम कंट्रोल कमिटी केन्द्र सरकार से मांग करती है कि जल्द ही देश मे एक मीडिया आयोग का गठन हो और पत्रकार की गिरफ्तारी से पहले राज्य सरकार आयोग के संज्ञान मे प्रकरण को लाये और आयोग की अनुमति के बाद ही पत्रकार की गिरफ्तारी हो।


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें