फेक न्यूज़ और भ्रामक सूचनाओं के प्रति नागरिकों को सजग रखना दादीदादा फाउंडेशन का मुख्य उद्देश्य : मुनि शंकर


Advt
मुंबई : दादी दादा फाउंडेशन द्वारा फ़ेक न्यूज़ और भ्रामक सूचनाओं से बचने के लिए बुजुर्गों में जागरूकता के लिए विशेषज्ञों की उपस्थिति में प्रेस क्लब आफ मुंबई में परिचर्चा का आयोजन किया । इस कार्यक्रम में शैलेश मिश्रा (संस्थापक, सिल्वर इनिंग्स), संदीप सोपारकर (बॉलीवुड अभिनेता)  कृतिका महाजन (वरिष्ठ प्रचारक), और महेश ठक्कर ( एफआयड़ीसी) उपस्थित थे । यह आयोजन संयुक्त राष्ट्र के सहयोग से चलाया जाने वाले वेरिफाइड अभियान का एक हिस्सा हैं । कोरोना वायरस महामारी की तीसरी दस्तक के बीच इस कार्यक्रम ने बुजुर्गों के बीच गलत सूचनाओं और फर्जी खबरों के प्रसार के बारे में जागरूकता में दादीदादा फाउंडेशन की यह पहल बहुत ही सार्थक होगी

दादीदादा फाउंडेशन के संस्थापक एंव निदेशक मुनि शंकर ने कोरोना वायरस महामारी के समय में फाउण्डेशन द्वारा किये गये कार्यों की विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि फर्जी खबरों और भ्रामक सूचनाओं के कारण वरिष्ठ नागरिकों को बहुत नुकसान होता है। मुम्बई के लोग फाइनेंशियल फ्रॉड को समझते हैं, फाइनेंशियल फ्रॉड के सबसे आसान शिकार बुजुर्ग होते हैं।  दादी दादा फाउंडेशन देश भर में लगातार जागरुकता अभियान चलाकर बुजुर्गों को जागरूक करने का कार्य कर रहा है। कोरोना और टीकों के बारे में गलत सूचना के प्रसार को रोकने के इरादे से मिसिनफॉर्मेशन कॉम्बैट एलायंस और फोर्स के साथ हाथ मिलाकर दादी दादा फाउंडेशन कार्य कर रहा है।

इस अवसर पर संदीप सोपारकर ने कहाकि यह बहुत ज़रूरी हैं की किसी भी न्यूज़ के बारे में हम पहले जाँच पड़ताल करे यह देखे की वीडियो या तस्वीर कितनी पुरानी हैं बिना वेरिफिकेशन के किसी भी खबर को आगे नहीं फॉरवर्ड नहीं करना चाहिए शैलेश मिश्रा (संस्थापक, सिल्वर इनिंग) ने बताया की भ्रामक जानकारी के चलते आज कई लोग करोना का टीका नहीं लगा रहे हैं ऐसे कठिन समय में जब हमें सबसे ज्यादा जागरूक रहना चाहिए तो एक बड़ा समूह ग़लत खबरों और भ्रामक जानकारी के चलते महामारी से चल रही लड़ाई को कमजोर कर ड़े रहा हैं कृतिका महाजन (वेरिफाइड कैंपेन ) का कहना है कि  किसी भी खबर या सूचना का सत्यापन करना सबसे जरूरी है ।

मुनि शंकर दादीदादा फाउंडेशन संस्थापक एवं निदेशक का कहना है कि हमारे फाउंडेशन का मिशन  आम नागरिकों , विशेष: वरिष्ठ नागरिकों को भ्रामक जानकारी और फेक न्यूज से सावधान किया जाए । हम कई संस्थाओं के साथ मिलकर इस दिशा में लगातार कार्य कर रहे हैं मैं सभी अतिथियों और पैनलिस्ट को धन्यवाद देना चाहता हूँ उन्होंने फ़ेक न्यूज और भ्रामक जानकारी के प्रति जागरूकता के लिए एक सार्थक परिचर्चा के लिए अपने विचार और सुझाव साझा किए



Advt



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें