योग को स्वतंत्र विषय के रूप में सर्जित करने को लेकर दिया ज्ञापन

अखिल भारतीय योग शिक्षक महासंघ द्वारा योग को स्वतंत्र  विषय के रूप में सर्जित करने को लेकर मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन डीडवाना विधायक चेतन जी डूडी को सौपा। ज्ञापन में लिखा है कि योग विषय को पाठ्क्रम में स्वतंत्र विषय के रूप में मान्यता प्रदान करने एवं योग शिक्षको को रोजगार दिया जाए।

नागौर जिला योग सह-प्रभारी प्रहलाद शर्मा, राष्ट्रीय स्तर पर योगा में कांस्य पदक विजेता दिनेश सैनी और  सुनील वाल्मीकि, भवानी कुमावत तथा उनके सहयोगी महावीर सिंह  राठौड़  डाबड़ा ने बताया कि नई शिक्षा नीति में योग को शारीरिक शिक्षा के उप विषय से अलग कर अनिवार्य विषय के रूप में चालू किया जाए तथा नई शिक्षा नीति में योग को स्कूल, कॉलेज,  आंगनवाड़ी, हॉस्पिटल तथा हर कार्यालय के अधीन जोड़ा जाए जिससे हर व्यक्ति तनाव मुक्त व स्वस्थ शारिरिक के रूप में लाभ ले सकें। इसलिये योग को स्वतंत्र विषय के रूप में पाठ्यक्रम में जोड़ा जाए। योग गुरु शर्मा में बताया कि सम्पूर्ण भारत के डिग्री, डिप्लोमा धारक योग शिक्षक मिलकर योग को स्वतंत्र विषय के रूप में मान्यता दिलाने का प्रयास कर रहे है ।
ज्ञापन देने वालो में नागौर  जिला सह-प्रभारी प्रहलाद शर्मा, दिनेश सैनी, सुनील वाल्मीकि, भवानी कुमावत, महावीर सिंह राठौड़ डाबड़ा, खेता राम बलारा, लोकेश दाधिच ओड़िन्ट ने मिलकर  डीडवाना विधायक जी को ज्ञापन सौपा।


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें