बीएसडीयु प्रो चांसलर डा (ब्रिगेडियर) सुरजीतसिंह पाब्ला ऑल इंडिया बोर्ड फॉर वोकेशनल एजुकेशन के अध्यक्ष नियुक्त

जयपुरः भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी के प्रो चांसलर डा (ब्रिगेडियर) सुरजीतसिंह पाब्ला को एआईसीटीई ने ऑल इंडिया बोर्ड फॉर वोकेशनल एजुकेशन का अध्यक्ष नियुक्त किया है। उनकी नियुक्ति 3 जनवरी 2020 से प्रभावी हो गई है और उनका कार्यकाल 3 साल का रहेगा। गौरतलब है कि भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी (बीएसडीयू) देश का एकमात्र असली कौशल विश्वविद्यालय है, जो कई कौशल क्षेत्रों में कौशल प्रमाणपत्र से लेकर कौशल डिप्लोमा, उन्नत डिप्लोमा, बी.वोक, एम.वोक और पीएच डी तक व्यावसायिक कार्यक्रम प्रदान करता है। कुशल श्रमिकों और प्रबंधकों को हासिल करने के लिए बीएसडीयू उद्योग में सबसे अच्छे शैक्षणिक संस्थान के रूप में उभर रहा है।
आईआईटी बॉम्बे से एम.टेक और पीएच डी उपाधि प्राप्त मैकेनिकल इंजीनियर और शिक्षाविद डा (ब्रिगेडियर) सुरजीतसिंह पाब्ला को अनेक इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स और शैक्षणिक प्रशासन का व्यापक अनुभव है। डॉ पाब्ला पांच विश्वविद्यालयों के कुलपति रहे हैं, एक विश्वविद्यालय के प्रो वीसी, एक स्किल डेवलपमेंट कैम्पस के प्रेसीडेंट और दो प्रौद्योगिकी संस्थानों के निदेशक रहे हैं। सेना की इकाइयों के अलावा सेना में उनके अनुभव में इंजीनियरिंग पेशेवर काम और प्रशासनिक कार्य भी शामिल हैं। उन्हें 1971 में भारत-पाक युद्ध में युवा लेफ्टिनेंट के रूप में भाग लेने का सौभाग्य मिला था।
वर्तमान में भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी, जयपुर के प्रो चांसलर डॉ. पाब्ला को देश में पहला असली कौशल विकास विश्वविद्यालय स्थापित करने का सौभाग्य हासिल हुआ है। बीएसडीयू एक विश्व स्तर के कौशल विकास विश्वविद्यालय के रूप में तेजी से उभर रहा है। इसे पहले से ही एशिया में सर्वश्रेष्ठ कौशल विकास विश्वविद्यालय के रूप में दर्जा दिया गया है और अपनी स्थापना के दूसरे वर्ष में ही इसे देश के शीर्ष 10 विश्वविद्यालयों में शुमार किया जाने लगा था।
बीएसडीयू के कुलपति प्रोफेसर अचिन्त्य चैधरी ने कहा, ‘‘ ऑल इंडिया बोर्ड फॉर वोकेशनल एजुकेशन के अध्यक्ष के तौर पर डा (ब्रिगेडियर) सुरजीतसिंह पाब्ला की नियुक्ति बीएसडीयू के लिए बहुत प्रतिष्ठा और गौरव की बात है। डॉ. पाब्ला ने देश के कई प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों में सेवाएं दी हैं और वे शैक्षणिक संस्थानों और विश्वविद्यालयों में उच्च स्तरीय शिक्षा के मानक को और आगे बढ़ाने में सफल रहे हैं।
ब्रिगेडियर पाब्ला अपनी इस नियुक्ति को राष्ट्रीय स्तर पर व्यावसायिक शिक्षा में योगदान करने के एक महत्वपूर्ण अवसर के रूप में देखते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ऑल इंडिया बोर्ड फॉर वोकेशनल एजुकेशन के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया जाना मेरे लिए गर्व और सम्मान की बात है। मैं बड़ी विनम्रता के साथ इस पद को स्वीकार करता हूं और मुझ पर भरोसा करने और यह महत्वपूर्ण दायित्व सौंपने के लिए मैं अध्यक्ष एआईसीटीई को धन्यवाद देता हूं। मैं राजेंद्र और उर्सुला जोशी समूह का भी धन्यवाद करता हूं, विशेष रूप से स्वर्गीय डॉ. राजेंद्र जोशी का, जिन्होंने भारत में एक विश्व स्तरीय कौशल विश्वविद्यालय को विकसित करने के लिए मुझ पर विश्वास जताया।

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

Related Articles