Lockdown: लोक डाउन में उभर रही महिला कोरोना योद्धाओं की रुचि

सोशल किचन के जरिए खाना पहुंचा रही दीपा मलिक

_x000D_ _x000D_


_x000D_ 49 साल की  दीपा मलिक भारतीय पैरालिपिक कमेटी पीसीआई की अध्यक्ष है वे कहती हैं मैं सोशल किचन के माध्यम से कई लोगों को खाना पहुंचाने के लिए काम में लगी हूं। उन्होंने कहा है कि कोई भूखा न सोए इसके लिए कोई भी असहाय और जरूरतमंद किसी सहायता की जरूरत दिखे तो तुरंत हमें बताएं जिसे हम अब उनकी मदद कर सके और ग्रामीण क्षेत्रों में जिन लोगों को दो टाइम का खाना नसीब नहीं हो पा रहा उनको  तुरंत बताएं।

_x000D_ _x000D_

सात माह की गर्भवती होकर भी मुस्तैदी से लड़ती रही कोरोना से जंग
_x000D_ कोरोना संक्रमण के संभावित खतरे को देखते हुए यहां अपने कार्यस्थल पर जाने से बचने हेतु तमाम तरह के बहाने बना रहे हैं वहीं थाना प्रभारी अनीता गुर्जर के जज्बे को सलाम करना चाहिए कि सात माह की गर्भवती होने के बावजूद वह कोरोना के खिलाफ मुस्तैदी से जंग लड़ती रही। यह बताना जरूरी होगा कि थाना प्रभारी अनीता गुर्जर सात माह की प्रेगनेंसी होने के बावजूद लोग डाउन के दौरान क्षेत्र में सतत भ्रमण करते हुए इस बात पर पैनी नजर रख रही है कि कोई भी बाहरी व्यक्ति चोरी छुपे इलाके में प्रवेश कर अन्य लोगों को संक्रमित नहीं कर सके।  इसके अलावा उनके द्वारा क्षेत्रवासियों को भी कोरोना से बचाव के लिए जागरूक किया जाता रहा ताकि क्षेत्रवासी इस महामारी से पूर्ण रूप से सुरक्षित बचे रहे।  हालांकि प्रेगनेंसी का आठवां माह शुरू होने के बाद से अनीता गुर्जर मातृत्व अवकाश पर चली गई।

_x000D_ _x000D_

कोरोना महामारी से बचाव के लिए आशा सहयोगिनियों ने घर-घर जाकर किए सर्वे

_x000D_ _x000D_


_x000D_ इटावा: कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए चिकित्सा विभाग के साथ आंगनबाड़ी और आशा कार्यकर्ता लगातार 7 किमी के दायरे पर घरों का सर्वे किया सर्वे में पूरी जिम्मेदारी के साथ जुटी रही। आशा सहयोगिनियों ने सुरक्षा मुहैया करवाने के लिए एसडीएम रामावतार बरनाला को ज्ञापन दिया और लगातार कोरोना महामारी के बचाव के लिए अपने कार्य में जुटी रही. आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं आशा सहयोगिनियों की टीम ने घर-घर जाकर ग्रामीणों के स्वास्थ्य संबंधित जानकारी ली।

_x000D_ _x000D_

कोरोना योद्धाओं ने घर जाकर बाँटा राशन

_x000D_ _x000D_


_x000D_ रटलाई : कोरोनावायरस से उत्पन्न संकट में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा मई महीने का राशन वितरण शुरू किया गया। कस्बे के छे आंगनबाड़ी केंद्रों व    मिनी  केंद्र की कोरोना योद्धाओं ने शनिवार को पंजीकृत लाभार्थियों को घर-घर राशन सामग्री पहुंचाई। कार्यकर्ता सीमा शर्मा, संजीदा बेगम, निशा मोदी, राजश्री शर्मा, चंद्रकला और प्रेमलता आदि ने आशा सहयोगिनी और सहायिका की मदद से पंजीकृत गर्भवती धात्री व माताओं  6 माह से 6 वर्ष तक के बालक बालिकाओं को गेहूं वितरित कर  राहत पहुंचाई। वही राशन डीलरों से चना दाल प्राप्त नहीं होने से वितरण दाल का वितरण नहीं हुआ। आंगनबाड़ी कर्मीको का कहना है कि अभी गेहूं वितरित किए दाल मिलने पर एक ही लाभार्थी के घर दो बार जाने की परेशानी का सामना करना पड़ेगा और उनको राशन उपलब्ध कराने के लिए तत्पर  रहना पड़ेगा।

_x000D_ _x000D_

मारवाड़ी महिला मंडल ने 500 मास्क बाटे

_x000D_ _x000D_


_x000D_ भवानीमंडी मारवाड़ी महिला मंडल ने गुरुवार को 500 मास्क बनवाकर उपखंड अधिकारी मनीषा तिवारी को दिए गए। इस दौरान मंडल अध्यक्ष शोभा खंडेवाल, सचिव मालती अग्रवाल, कोषाध्यक्ष मीनाक्षी जाकैटिया ने बताया कि प्रदेश में कोरोना से बचाव के विषय पर स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें बड़ी संख्या में प्रदेश की महिला सदस्यों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और कोरोना के संबंध में जागरूकता का प्रचार प्रसार किया गया और महिलाओं को कोरोना महामारी से बचाव के संकेत दिए गए और मनीषा तिवारी द्वारा ग्रामीण जनता को मास्क बांटे गए और कोरोना से मुक्ति के लिए जनता की सेवा में लगे रहे।

_x000D_ _x000D_

 


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें