अनुसंधान निदेशालय सभागार में महिला किसान दिवस एवं विश्व खाद्य दिवस 2021 हर्षोल्लास के साथ मनाया गया



भारतीय कृषिरत महिला संस्थान भुवनेश्वर के अखिल भारतीय समन्वित अनुसंधान परियोजना- गृह विज्ञान द्वारा 16 अक्टूबर 2021 को महिला किसान दिवस एवं विश्व खाद्य दिवस के उपलक्ष में महिला समानता एवं सशक्तिकरण विषयक पर अनुसंधान निदेशालय सभागार में संगोष्ठी आयोजित की गई। इस कार्यक्रम में 110 महिलाओं व बालिकाओं ने सक्रिय रूप से भाग लिया ।

 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ नरेंद्र सिंह राठौड़, कुलपति, महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय उदयपुर ने अपने उद्बोधन में बताया कि कृषि क्षेत्र में महिलाओं की सक्रिय भागीदारी बढ़ाने के लिए कृषि मंत्रालय ने 15 अक्टूबर को महिला किसान दिवस की शुरुआत की थी। उन्होंने सभी महिला किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे देश में भुखमरी का सामना कर रहे लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है कुल 7.5 अरब जनसंख्या में से तीन अरब जनसंख्या को उनके भोजन में पौष्टिक तत्व नहीं मिल पा रहे हैं। इसलिए उन्होंने सभी महिला किसानों को आग्रह किया कि वे विश्व खाद्य दिवस के महत्व को पहचाने और कृषि कार्यों से हमेशा जुड़े रहे और पोषक युक्त भोजन ग्रहण करें। उन्होंने सभी महिला किसानों को कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ने का आह्वान किया और फूलों की खेती तथा सब्जी उत्पादन बढ़ाने के लिए प्रेरित किया।

 

कार्यक्रम में डॉ एस के शर्मा, निदेशक अनुसंधान ने अपने स्वागत उद्बोधन में सभी कृषक महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि कृषि विश्वविद्यालय ने उनके लिए कृषि की उन्नत तकनीकीओं को विकसित किया है उन्हें वह अपने दैनिक कृषि कार्यों में उपयोग में लेवे और अधिक से अधिक लाभान्वित होवे।

 

डॉ रेखा व्यास, क्षेत्रीय अनुसंधान निदेशक द्वारा महिला किसान दिवस एवं विश्व खाद्य दिवस के बारे में सभी महिलाओं को जानकारी प्रदान की उन्होंने कहा कि कृषि कार्यों में महिलाओं का लगभग 43% प्रतिशत योगदान रहता है। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि महिलाएं कृषि कार्यों द्वारा खाद्यान्न उत्पादन बढ़ाए और उसकी बर्बादी को रोके जाने के संबंध में उनकी जागरूकता बढ़ाने और कृषि कार्यों में समानता के अधिकार पर अपने विचार व्यक्त किए। उन्होंने बताया कि विश्व खाद्य दिवस 2021 की थीम हमारे कार्य हमारा भविष्य है -बेहतर उत्पादन, बेहतर पोषण, बेहतर वातावरण और बेहतर जीवन

 

डॉ. आर ए कौशिक, प्रसार निदेशक ने कृषि में महिलाओं की भूमिका के बारे में ऐतिहासिक जानकारी दी उन्होंने बताया कि 48% महिलाएं खेती और खेती से संबंधित व्यवसाय से जुड़ी हुई है महिलाओं की अनुपस्थिति में कृषि की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। उन्होंने कहा कि किसान भाइयों के साथ-साथ अब से किसान बहनों को भी समान रूप से संबोधित किया जाएगा । महिला किसानों के लिए सुचारू रूप से बिजली की व्यवस्था उपलब्ध करवाने के लिए भी आह्वान किया।

महिला किसानों के लिए मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध करवाना बेहद आवश्यक है महिला किसानों को कृषि संबंधित व्यवसाय प्रारंभ करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा 40% तक सब्सिडी प्रदान की जाती है उन्होंने कृषि की उन्नत तकनीकी उपकरणों के साथ कृषि विश्वविद्यालय द्वारा चलित नारीकार्यक्रम के बारे में भी जानकारी दी।

 

डॉ. मीनू श्रीवास्तव, अधिष्ठाता सामुदायिक एवं व्यावहारिक विज्ञान महाविद्यालय ने अपने उद्बोधन में कहा कि कृषि विश्वविद्यालय उदयपुर का महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए सभी को धन्यवाद ज्ञापित किया । साथ ही उन्होंने महिला समानता एवं सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए सभी से आग्रह किया और भेदभाव समाप्त करने पर भी बल दिया।

 

कार्यक्रम के दौरान सभी अतिथियों द्वारा अच्छी कृषि एवं पशुपालन की पद्धतियों तथा विश्व सुरक्षित खाद्य दिवस के पोस्टरों का विमोचन किया गया।

 

कार्यक्रम का संचालन डॉ गायत्री तिवारी विभागाध्यक्ष मानव विकास एवं पारिवारिक पारिवारिक अध्ययन- गृह विज्ञान द्वारा किया गया।

 

कार्यक्रम के दौरान साफा बांधो प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया तथा श्रेष्ठ प्रतियोगियों को पुरस्कृत भी किया गया।

 

कार्यक्रम के अंत में मदार गांव की ही बालिकाओं तथा किसान महिलाओं द्वारा सामूहिक गरबा का आयोजन किया गया और श्रेष्ठ डांडिया प्रदर्शन करने वालों को कुलपति महोदय द्वारा स्मृति चिन्ह भी भेंट किए गए।

कार्यक्रम के अंत में डॉ सुधा बाबेल विभागाध्यक्ष , वस्त्र एवं परिधान विभाग / इकाई समन्वयक गृह विज्ञान ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

 

 इस कार्यक्रम में सभी अखिल भारतीय कृषि संबंधित अनुसंधान परियोजना गृह विज्ञान के सभी विभागों के परियोजना अधिकारी और यंग प्रोफेशनल उपस्थित थे।



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें