कोरोना वैक्सीन आयी तो कीमत क्या होगी? जाने भारत में किस वैक्सीन की... - Sangri Times

SPORTS

कोरोना वैक्सीन आयी तो कीमत क्या होगी? जाने भारत में किस वैक्सीन की कीमत कहाँ तक है

आयुष शर्मा

घर घर की कहानी है यह है कि बोरियत, डिप्रेशन, जॉब का चला जाना, मरीजों का लगातार बढ़ना और मौजूदा हालातों में डरना, दुनिया का भविष्य कैसा होगा ? गरीबी और आदि ऐसी ही कई सवाल या शब्द ज़हन में पनप रहे हैं जिनका न तो कोई जवाब है और न ही कोई ठोस भविष्यवाणी में मेरी बताऊं कभी कभी टेंशन नामक शब्द अक्सर दिमाग में घर कर बैठता है समझ नही आता कि आखिर कब तक यूहीं दुनिया में लोगों के चहरे पर मायूसी छाई रहेगी, कभी कभी खुश खबरी भी मिल जाती है जैसे कुछ वैक्सीन्स  का दूसरे या तीसरे चरण में सफल होना, या किसी फार्मा  कंपनी का ये कह देना की वे वैक्सीन को जल्द ही बाजार में उतार देंगे, वगैरा-वगैरा ! सुन कर खुशी होती है पर सवाल फिर वही की क्या सक्सेस हाथ लगेगी ? फिर वहीं एक तरफ ये भी सवाल आ उमड़ता है कि WHO की साइट के मुताबिक दुनिया में सबसे जल्द बनने वाली वैक्सीन तो मलेरिया की है जिसमें 4 साल लगे थे और ये तो कोरोना है जिसको सुनते महज़ ही में एयर आप कांप उठते हैं।
हालही में कुछ सफलता तो हाथ लगी है ये गुड न्यूज इंग्लैंड से है जहां चडॉक्स वैक्सीन का ट्रायल उम्दा तरीके से आगे बढ़ते हुए सकारत्मक रिजल्ट्स ला रहा है जिसको तमाम मीडिया इदारों ने बड़ी हेडलाइंस के साथ कवर किया, तो यदि वैक्सीन आ भी जाये तो इनकी कीमत क्या होगी ? ये वैक्सीन्स क्या भारत में सब्सिडी पर मिलेंगी ? या फिर ये ना केवल मरीजों के लिए बल्कि हम सब के लोए होगी इन प्रश्नों  के सवालों की भूख मिटाने के लिए आप ज्ञानसँख्या पर सही क्लिक किये हैं, बहराल दुनिया में 160 वैक्सीन पर काम चल रहा है इनमें से 25 वैक्सीन ह्यूमन ट्रायल के लिए तैयार हैं 5 वैक्सीन ऐसी हैं जो अपने तीसरे चरण में हैं हालांकि महामारी को देखते हुए जिस कदर साइंस मेहनत कर रहा है लग रहा है नवंबर तक से दिसंबर के बीच वैक्सीन आ जानी चाहिए और  फरवरी तक मेरे ख्याल से कई और अलग - अलग तरह की विदेशी और भारतीय वैक्सीन्स बाजार में आने की उम्मीद है अब में कोई वैज्ञानिक तो नही हूँ पर प्रोग्रेस को देखते हुए ये ज़रूर कह सकता हूँ कि अच्छी खबर अब दूर नही है । पर मोड़ तोड़ के उसी सवाल को वापस लाना चाहूंगा की आखिर वैक्सीन की कीमत क्या होगी ? अब इतनी बात तो तय है की प्राइवेट मैन्युफैक्चरर अपने प्रॉफिट के लिए ही वैक्सीन को बाजार में उतारेंगे और जिसने पहले उतारदी उसकी बल्ले-बल्ले होना तय है । यहां एक बड़ी उम्मीद एस्ट्रा-जेनेका और मोडर्ना से लगाई जा रही है यहां खुद मोडर्ना और कुछ फार्मा कंपनीज़ जैसे साइनोवैक फाइजर का ये खुला कहना कि ये प्रॉफिट के लिए ही वैक्सीन को बेचेंगे यहां राष्ट्रवाद का मुद्दा भी खड़ा हो चुका है जिसमें कुछ अमीर देश किसी कंपनी का बनाया हुआ पूरा स्टॉक एक बार में खरीद कर सबसे पहले खुद का फायदा देखते हैं इसका सही उदाहरण अमेरिका है जिसने रेमडीसीवेर का पूरा स्टॉक एक कॉन्ट्रैक्ट साइन करके खरीद लिया यानी तू पहले हमें बेच बादमें किसी और को , और मानके चलिए की आगे होना तय है यहां कुछ कंपनीज़ जैसे जॉनसन एंड जॉनसन का कहना है कि वे वैक्सीन को प्रॉफिट के तौर पर नही बेचेंगे कंपनी ने ये भी साफ किया कि वैक्सीन 500 से 700 रुपये से ज़्यादा की नही होगी आलम तो ये है जनाब की कई अमीर देशों ने पहले से ही एग्रीमेंट कर रखे हैं जिसके तहत आने वाली कई वैक्सीन गरीब देशों तक पहुचने से पहले अमीर देशों तक पहुचेगी यहां भारत एक सबसे बड़ा रोल मैन्युफैक्चरर के रूप में निभाएगा सबसे पहले वैक्सीन लाने वाली एस्ट्रा-जेनेका भारत की फार्म कंपनी सीरम इंस्टीटूट के साथ मिल कर वैक्सीन का प्रोडक्शन करेगी । इसलिए भारत को दुनिया में चल रहे राष्ट्रवाद के झमेले से कोई फर्क नही पड़ने वाला।
यहां सीरम इंस्टीटूट का पार्टनर एस्ट्रा जेनेका भारत में अपनी वैक्सीन की कीमत करीब 1000 रुपये से कम होगी
                          वहीं वैक्सीन बनाने में सबसे ज़्यादा तेज़ी दिखा रही मोडर्ना फार्मा कंपनी की वैक्सीन की प्रति डोज़ करीब भारत में 2000 रुपये से ज़्यादा की होगी । और वैक्सीन का पूरा कोर्स 4000 रुपये से ज़्यादा का होगा,  इसके अलावा फाइजर फार्मा कंपनी की बात की जाए तो इसकी वैक्सीन अक्टूबर तक आना हो सकता है जिसकी प्रती डोज़ 250 से 300 के बीच होगी । ये कुछ अहम जानकारी आपको देनी चाही पर एक सवाल आपको सोचने के तौर पर छोड़ कर जा रहा हूँ , सवाल ये की क्या इस महामारी में राष्ट्रवाद इंसानियत से ऊपर चुका है ? अब इतनी मेहनत तो कर ही सकते हैं । आपके जवाब का इंतज़ार में कमेंट बॉक्स में कर रहा हूँ।

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

loading...