नारी अबला नहीं, शक्ति है : गायक अनिल नायक

हमारे समाज की नारी अब कमजोर नहीं है बल्कि शक्ति बनकर देश और समाज के लिए काम कर रही है। मनुष्य की उत्पति ही नारी है, जगत जननी व् धैर्य की देवी को हम नमन करते है , यह बात गायक-गीतकार अनिल नायक ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को एक समारोह शिरकत की महिलाओं को सम्बोधित करते हुए अनिल नायक ने वीरांगना क्षत्राणि हाड़ी राणी के बलिदान व् जैसलमेर की वीरांगना राजकुमारी रत्नावती जिसने तुर्क अल्लाउदीन की सेना को 100km तक दौड़ा कर हराया था को कोटि कोटि नमन कहा की नारी अबला नहीं, शक्ति है

सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें