कविता: पिता पिता होता है - Sangri Times

SPORTS

कविता: पिता पिता होता है

पिता पिता होता है

मैं देखूँ अक्सर 

दिन में डॉट

आंखों में गुस्सा होता है

वो ही इंसान 

बच्चे को प्यार करके

सोता है

पता उसको सब होता

फिर भी चुप चाप बना होता है

क्योंकि पिता पिता होता है।

 

@mukeshofficials

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

loading...

RELATED NEWS

VIEW ALL
loading...