वृहद स्तर पर लॉन्च की गई उड़ान योजना देश में राजस्थान की एक अनूठी पहल



वृहद स्तर पर लॉन्च की गई उड़ान योजना देश में राजस्थान की एक अनूठी पहल -महिला एवं बाल विकास मंत्री 

राज्य सरकार के कार्यकाल के तीन वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में मुख्यमंत्री श्री अशोेक गहलोत द्वारा रविवार को मुख्यमंत्री निवास से आई एम शक्ति उड़ान योजना,जागृति-बैक टू वर्क योजना तथा प्रदेश में झुंझुंनू, चूरू, बूंदी एवं हनुमानगढ़ चार जिलों में नवनिर्मित सखी वन स्टॉप सेंटर का लोकार्पण किया गया। 

इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती ममता भूपेश ने अपने सम्बोधन में कहा कि इस योजना से राजस्थान की 1 करोड़ 20 लाख महिलाओं को आने वाले समय में चरणबद्ध तरीके के जोड़कर लाभान्वित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि शनिवार को चार दिवसीय राज्य स्तरीय प्रदर्शनी में महिला एवं बाल विकास  विभाग की स्टॉल का अवलोकन करते समय मुख्यमंत्री ने उन्हें कहा कि उड़ान योजना में धन की कोई कमी नहीं आने दी जायेगी। श्रीमती भूपेश ने कहा कि मुख्यमंत्री की स्वच्छ और स्वस्थ राजस्थान व निरोगी राजस्थान की संकल्पना का सपना साकार करने की कड़ी में महिलाओं को स्वच्छता व स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से आगे बढ़ाने का काम उड़ान योजना के माध्यम से किया जायेगा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण महिलाएं आज भी माहवारी जैसे विषय पर खुलकर नहीं बोल पाती है। उन्होंने बताया कि इतने बड़े स्तर पर यह देश में राजस्थान की अपने आप में एक अनूठी पहल है।

उल्लेखनीय है कि राजस्थान में महिलाओं के लिए स्वास्थ्य जागरूकता एवं निःशुल्क सेनेटरी वितरण हेतु वित्तीय वर्ष 2021-22 में मुख्यमंत्री द्वारा बजट घोषणा के बिन्दु संख्या 125 में वर्णन अनुसार - ‘‘Health एवं Hygiene’’ को ध्यान में रखते हुए छात्राओं एवं किशोरियों को सेनेटरी नैपकिन उपलब्ध कराये जा  रहे है। अब इसका दायरा बढ़ाते हुए सभी महिलाओं को, आवश्यकतानुसार यह सुविधा ‘‘मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजना’’ के माध्यम से उपलब्ध करवायी जायेगी। विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में, जहां  घूंघट प्रथा भी है तथा महिलायें अपनी ऐसी समस्यायें किसी से संकोचवश कह नहीं पाती हैं व इस कारण अनेक रोगों से ग्रसित हो जाती हैं तथा उन्हेें समय पर इलाज भी नसीब नहीं होता। अतः महिला SHG, सामाजिक संस्थाओं एवं NGOs के माध्यम से स्वास्थ्य संबंधी विशेष जागरूकता अभियान चलाया जाकर सेनेटरी नैपकिन का वितरण करवाया जायेगा। इस हेतु इन संगठनों को उत्कृष्ट कार्य करने पर प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। इस योजना में 200 करोड़ रूपये का प्रावधान प्रस्तावित है।’’ इसकी अनुपालना में विभाग द्वारा आई एम शक्ति उड़ान योजना बनाई गई।



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें