बीसलपुर बाँध के भराव क्षेत्र के अतिरिक्त अन्य जगह एनिकट बनाने के प्रस्ताव का होगा परीक्षण- जल संसाधन मंत्री


Advt

बीसलपुर बाँध के भराव क्षेत्र के अतिरिक्त 

अन्य जगह एनिकट बनाने के प्रस्ताव का होगा परीक्षण- जल संसाधन मंत्री 

जल संसाधन मंत्री श्री महेन्द्रजीत सिंह मालवीय ने सोमवार को विधानसभा में आश्वस्त किया बीसलपुर बाँध के भराव क्षेत्र के अतिरिक्त यदि भीलवाड़ा के विधानसभा क्षेत्र जहांजपुर में एनिकट निर्माण का कोई प्रस्ताव प्राप्त होता है तो उसका परीक्षण करवाकर कार्यवाही की जायेगी।

श्री मालवीय ने प्रश्नकाल में सदस्यों द्वारा इस सम्बन्ध में पूछे गये पूरक प्रश्नों के जवाब मे स्पष्ट किया कि बनास नदी क्षेत्र में जल स्तर बढ़ाने के लिए एनिकट निर्माण नहीं कराया जा सकता क्योंकि यह क्षेत्र बीसलपुर बाँध के भराव क्षेत्र में आता है। उन्होंने आश्वस्त किया कि इस क्षेत्र के अतिरिक्त अन्य जगह एनिकट बनाने का प्रस्ताव आते है तो उसका परीक्षण करवाया जायेगा।

इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष डॉ.सी.पी.जोशी द्वारा हस्तक्षेप कर किसी भी निर्माण कार्य के एस्टीमेट में निर्धारित की गई राशि व्यय नहीं होने के सम्बन्ध में श्री मालवीय ने आश्वस्त किया कि ऎसे मामलों का परीक्षण कराया जायेगा। 

इससे पहले जल ससांधन मंत्री ने विधायक श्री गोपीचन्द मीणा के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में विधानसभा क्षेत्र जहाजपुर में जल संसाधन विभाग के अधीन बांधों का विवरण सदन की मेज पर रखा। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र जहाजपुर में बनास नदी पर (घटारानी माताजी) के पास तथा ओडिया खेडा से घटारानी मार्ग पर एनीकट का निर्माण स्थल पूर्व निर्मित बीसलपुर बांध के जल ग्रहण क्षेत्र में स्थित होने के कारण प्रस्तावित नहीं है। श्री मालवीय ने बताया कि जहाजपुर विधानसभा क्षेत्र में जल संसाधन विभाग के अधीन 9 बांधों में से 5 बांधों एवं नहरों के सुदृढीकरण के कार्य राशि रुपये 918.15 लाख का व्यय कर पूर्ण किये जा चुके है । उन्होंने विवरण सदन की मेज पर रखा। उन्होंने बताया कि कोठारी बांध एवं इसकी नहरों के सुदृढीकरण का कार्य प्रगतिरत है, जिस पर अब तक राशि रूपये 819.82 लाख का व्यय किया जा चुका है।

जल संसाधन मंत्री ने बताया कि दो बांधों एवं नहरों के प्रस्ताव डी.एम.एफ.टी. राशि रूपये 150 लाख के एवं एक बांध व नहर राशि रूपये 70 लाख के (मनरेगा में) प्रस्तावित किये गये है। उन्होंने बताया कि स्वीकृति उपरांत संसाधन उपलब्धतानुसार कार्य करवाया जाना प्रस्तावित है । जल संसाधन मंत्री ने बताया कि विभाग द्वारा पंचायत राज का हस्तान्तरित बांधों एवं एनीकटों के सुदृढीकरण के कार्य आवश्यकतानुसार उपादेयता एवं संसाधन उपलब्धतानुसार करवाया जाना प्रस्तावित है।


Advt



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें