शुद्ध के लिए युद्ध अभियान- माप तौल में गड़बड़ी, 4 लाख रूपये से अधिक लगाया जुर्माना




उपभोक्ता मामले विभाग के विधिक माप विज्ञान प्रकोष्ठ ने 1 जनवरी से प्रारम्भ हुए शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में प्रदेश में गत 5 दिनाें में 360 निरीक्षण किये और बाट, माप व पैकेज नियमों के प्रावधानों का उल्लंघन पाये जाने पर जुर्माना स्वरूप 4 लाख 31 हजार 500 रूपये की राशि राजकोष में जमा करवाई। 

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग के शासन सचिव श्री नवीन जैन ने बताया कि बाट व माप से संबंधित 124 प्रकरण व पैकेज नियमों के अन्तर्गत 49 प्रकरण दर्ज किये गये हैं। उन्होंने बताया कि विधिक माप विज्ञान की टीम द्वारा प्रदेशभर में 100 से अधिक निरीक्षण प्रतिदिन किये जा रहे हैं। 

श्री जैन ने बताया कि 5 जनवरी, बुधवार को प्रदेश में 111 निरीक्षण किये गये और बाट व माप से संबंधित 26 प्रकरण, पैकेज नियमों के अन्तर्गत 17 प्रकरण दर्ज किये गये। जिसमें से 40 प्रकरणों पर शमन स्वरूप 1 लाख 70 हजार 500 रूपये की राशि राजकोष में जमा करवाई गई। शेष 3 प्रकरणों पर नियमानुसार अग्रिम कार्यवाही की जा रही है। 

शासन सचिव ने बताया कि निरीक्षण के दौरान मिठाई के साथ डिब्बा तौलने, खाद्य पदार्थो की गुणवत्ता के साथ मात्र, बाट व मापों का सत्यापन और पैकेज्ड वस्तुओं पर नियमानुसार घोषणाएं जैसी जांचे की जाती हैं। 

श्री जैन ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के निर्देशानुसार शुद्ध के लिए युद्ध अभियान निरंतर जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार उपभोक्ताओं के हित में मिलावटखोरी, कालाबाजारी व आमजन के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं करेगी। 

श्री जैन ने कहा कि उपभोक्ता अपनी शिकायत राज्य उपभोक्ता हैल्पलाईन नम्बर 1800-180-6030 एवं ई-मेल आईडी stateconsumerhelpline.raj@gmail.com पर दर्ज करवा सकते हैं।


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें