किसान बिल को लेकर एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने किया धरना प्रदर्शन



बुधवार को राजस्थान के एनएसयूआई प्रदेश सचिव व राजकीय बांगड महाविद्यालय, पाली के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष गणपत पटेल के नेतृत्व में एनएसयूआई कार्यकर्ताओं  ने कलेक्टर कार्यालय पर किसान विरोधी बिल को लेकर विरोध पर्दशन किया।गणपत पटेल के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने  सांसद सेवा केंद्र के ऑफ़िस के बाहर किसान विधेयक के विरोध में सांकेतिक धरना प्रदर्शन किया ।गणपत पटेल ने बताया की केंद्र में सरकार देश के अन्नदाताओ को उद्योगपति के हाथों की कठपुतली बनाना चाहती है जिसे लेकर सांसद सेवा केंद्र में पाली सांसद महोदय के नाम ज्ञापन देकर इस बिल को तुरंत वापस लेने का निवेदन किया गया । ज्ञापन देते समय गणपत पटेल ने बताया की पाली सांसद पी पी चौधरी  राजस्थान के किसानों का देश की संसद में प्रतिनिधित्व करते हैं । केंद्र सरकार द्वारा पारित 3 किसान विरोधी कानूनों में मुख्य खामियां (बिल न. 1 में एमएसपी पर कुछ भी  स्पष्ट नहीं किया गया है। बिल नं .2 में स्टॉक लिमिट हटाने से कालाबाजारी को बढ़ावा मिलेगा ओर किसान को फसल का उचित मूल्य नहीं मिल पाएगा। बिल न.3 में अगर कॉन्ट्रैक्ट कंपनी ने माल लेने से मना किया तो उसकी ग्रेडिंग वगेरह के लिए कोई कानून प्रक्रिया नहीं दी गई हैं) के खिलाफ देश के सभी किसान सड़कों पर है ओर सरकार से लगातार इन कानूनों को वापस लेने के लिए आंदोलन कर रहे हैं। गणपत पटेल ने कहा की किसान इस देश की आत्मा हैं ओर सरकार की जिम्मदारी है कि जल्द से जल्द उनकी मांगों पर ध्यान दें। राजस्थान की जनता द्वारा चले जाने के नाते ओर सासंद के रूप में उनका प्रतिनिधित्व सरकार में करने के नाते यह आपकी भी जिम्मेदारी हैं की आप इन किसानों की बात मजबूती से सरकार में रखें । इस अवसर पर पीपलिया सरपंच किशोर चौधरी,किशन बंजारा,मुकेश पटेल,दलपत,सुरेश,गणेश,प्रकाश पटेल,विक्रम,रवीन्द्र,केवलराम,श्रवण,अशोक, दीपक,क़ैलाश आदि एनएसयूआई कार्यकर्ता मौजूद रहे ।



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें