मारवाड़ की भूमि उद्यमियों के लिए अवसरों का महासागर - उद्योग मंत्री शकुंतला रावत




जिला प्रशासन, उद्योग व वाणिज्य केंद्र तथा रीको के संयुक्त तत्वाधान में शनिवार को होटल इंडाना पैलेस में आयोजित जोधपुर इन्वेस्ट समिट में उद्योग, वाणिज्य, राजकीय उपक्रम एवं देवस्थान मंत्री श्रीमती शकुन्तला रावत ने मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया।

 इन्वेस्ट राजस्थान की श्रृंखला में शनिवार को जोधपुर इन्वेस्ट समिट का आयोजन हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उद्योग मंत्री शकुंतला रावत ने मुख्यमंत्री के सपने और संकल्प के संदर्भ में कहा कि उनकी बनाई हर योजना हर वर्ग के व्यक्ति को सकारात्मक रूप से प्रभावित करती है । उन्होंने कहा की जोधपुर इन्वेस्ट समिट जैसे कार्यक्रम के पीछे मुख्यमंत्री का उद्देश्य यही है कि राजस्थान की धरती निवेशकों की पहली पसंद बने इसी क्रम में उन्होंने विभिन्न योजनाएं भी बनाई है जिनसे निवेशकों को इस धरती पर अधिक से अधिक सुलभ सुविधाएं, संसाधन और सहयोग उपलब्ध हो ताकि निवेशकों और राज्य का पारस्परिक उत्थान हो। 

उद्योग मंत्री ने कहा कि जोधपुर इन्वेस्ट समिट के मंच से वे आज प्रदेश ही नही देश विदेश के सभी निवेशकों को आमंत्रित करती है कि वे आएं और मारवाड़ की धरती पर उपलब्ध विपुल संभावनाओं और अवसरों को देख,ें परखे, समझे और फिर यहां निवेश करें। उन्होंने कहा की राजस्थान के मुख्यमंत्री के बहतर प्रबंधन और दूरदर्शिता से उद्यमियों के लिए यहां निवेश के द्वार खुले हैं। उद्योग मंत्री ने कहा मुख्यमंत्री के साथ साथ यह हर राजस्थानी का सपना है की यहां की कला, हस्तशिल्प, ग्वारगम,स्टोन प्रसंस्करण जैसे विभिन्न उद्योग, क्लस्टर्स को समाहित कर राजस्थान एक वैश्विक निवेश हब के रूप में उभरे। 

कृषि उद्योगों को अधिक लगाएं -

जोधपुर इन्वेस्ट समिट की मुख्य अतिथि उद्योग मंत्री शकुंतला रावत ने कहा कि जोधपुर में पर्यटन एवं  कृषि प्रसंस्करण के क्षेत्र में नए नए उद्योग खोले जा सकते हैं जिससे इन क्षेत्र में जोधपुर और अधिक ऊंचाइयों को प्राप्त करेगा। उन्होंने पर्यटन के साथ ही आर्ट एंड आटॉक्राफ्टा, लोक संस्कृति व संगीत कला को सम्मिलित करने पर भी बल दिया । उन्होंने सभी निवेशकर्ताओं को समिट में उत्साह दिखाने पर हार्दिक शुभकामनाएं व धन्यवाद दिया। उन्होंने निवेशकों को आश्वस्त किया कि उनके उद्योगों को समृद्ध और सुगम बनाने के लिए प्रशासन और सरकार पूर्ण रूप से सहयोग देंगे।

जोधपुर में औद्योगिक क्षेत्र के लिए विपुल संभावनाएं -

जोधपुर इन्वेस्ट समिट को संबोधित करते हुए जिला कलेक्टर इंद्रजीत सिह ने कहा कि पिछले कुछ समय से उद्योग जगत महामारी की मार झेल रहा है लेकिन ऎसे समय में भी राज्य सरकार और जिला प्रशासन ने हर संभव प्रयास किया कि राज्य के विकास और इंफ्रास्ट्रक्चर की गति ना रुके। उन्होंने कहा कि जोधपुर में औद्योगिक क्षेत्र के लिए विपुल संभावनाएं हैं । यहां का विशाल और उन्नत इंफ्रास्ट्रक्चर प्रत्येक निवेशक को उत्कृष्ट अवसर देगा यहां का रेल नेटवर्क, एयर कनेक्टिविटी के साथ-साथ राज्य स्तरीय और केंद्र स्तरीय शैक्षणिक संस्थान जोधपुर को अन्य जिलों से एक कदम आगे रखते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने जोधपुर और जयपुर में फिनटेक यूनिव सिटी के लिए लगभग 400 करोड़ का बजट सेक्शन कर दिया है जिससे आगामी समय में जोधपुर एक विशेष शैक्षणिक और तकनीकी क्लस्टर के रूप में विकसित होगा।

जिला कलेक्टर ने कहा की निवेशकों के लिए जोधपुर में रिफाइनरी, सोलर ,पवन ऊर्जा जैसे विभिन्न क्षेत्रों में अपार अवसर उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही जोधपुर मल्टी मॉडलॉ लॉजिस्टिक्स के रूप में उभर कर आ रहा है तथा मुख्यमंत्री  के निर्देशानुसार सिंगल विंडो  जैसी सुविधाओं के लिए जिला कलक्टर पूर्ण रूप से उत्तरदाही होगा, जिससे निवेशक अधिक से अधिक लाभान्वित होंगे। जिला कलक्टर ने बताया कि जोधपुर इन्वेस्ट समिट के माध्यम से जोधपुर ने राजस्थान के अब तक के जिलों में आए निवेश का रिकॉर्ड तोड़ते हुए 28 हजार 325 करोड रुपए का निवेश अर्जित किया है जिसमें 115 निवेशकों से एमओयू किया गया इससे 22000 करोड़ से अधिक का नवीन निवेश आएगा एवं 11000 रोजगार के नवीन अवसर सृजित होंगे। 176 निवेशकों ने एलओआई प्रस्तुत किए जिससे 6325 करोड़ का नवीन निवेश होगा एवं 35000 रोजगार के नवीन अवसर सृजित होंगे। कोविड प्रोटोकाल को दृष्टिगत रखते हुए 25 बडे निवेशको को दस्तावेज हैण्डअॅावर किये गये। इस प्रकार कुल 28325 करोड रूपये के नवीन निवेश प्रस्ताव एक दिन में हस्ताक्षरित हुए जो कि अब तक हुए राज्य के इन्वेस्टमेन्ट समिट में सर्वाधिक है। 

जोधपुर इन्वेस्ट समिट कार्यक्रम में वीसी के माध्यम से जुड़े प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में शुरू किया गया इन्वेस्ट राजस्थान एक औद्योगिक क्रांति है जिसके सफल होने से प्रदेश में करोड़ों का निवेश आएगा और हमारा प्रदेश अन्य प्रदेशों से बढ़त हासिल करेगा। इससे न सिर्फ प्रदेश और जिले का चहुमुंखी विकास होगा बल्कि बड़े पैमाने पर रोजगार का सृजन भी होगा। उन्होंने उपस्थित उद्यमियों को संबोधित करते हुए कहा कि जोधपुर में पर्यटन, एनर्जी, सौर एनर्जी, स्टोन इंडस्ट्री के साथ ही कृषि उद्योग की विपुल संभावनाएं हैं एवं यह क्षेत्र सबसे सुरक्षित व नियोजन के हिसाब से महत्वपूर्ण है।

उन्होंने निवेशकर्ताओं से आवाहन किया कि वे अधिक से अधिक उद्योग लगाकर जोधपुर के विकास के सहभागी बने। उन्होंने कहा कि उद्योगों के विकसित होने से जहां जोधपुर का चहुंमुखी विकास होगा वही यहां की जनता को अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध होगा। उन्होंने कहा कि किसी भी क्षेत्र के विकास के लिए वहां के उद्योग जगत का विकास अत्यावश्यक है इसलिए एक संतुलित विकास दर के उद्देश्य के साथ मुख्यमंत्री ने इन्वेस्ट राजस्थान के अंतर्गत सभी जिलों को अपनी अपनी उपलब्धियों के साथ विकास के पथ पर सकारात्मक रूप से आगे बढ़ने का अवसर दिया है। उन्होंने कहा कि वन स्टॉप शॅप जैसी योजनाओं द्वारा निवेशकों को राजस्थान की धरती पर सुलभता उपलब्ध होगी जिससे मुख्यमंत्री का सपना संकल्प बनकर धरातल पर उतरेगा।

रीको के निदेशक सुनील परिहार ने जोधपुर की विलक्षण उद्यमशीलता का परिचय कराते हुए कहा कि हस्तशिल्प, ग्वार गम, बॅाल बियरिंग जैसे कई क्षेत्रों में यहां के उद्यमी विश्वव्यापी पहचान बना चुके है। राज्य सरकार के आह्वान पर क्षेत्र के उद्यमियों ने 28000 करोड से भी अधिक के निवेश प्रस्ताव प्रस्तुत किए है। इन निवेशकों को प्राथमिकता से भू आवंटन का प्रावधान किया जाना चाहिए ताकि शीघ्रातिशीघ्र यह परियोजनाएं क्रियान्वित हो और राज्य एवं क्षेत्र का त्वरित गति से आर्थिक विकास हो तथा रोजगार के नये अवसर सृजित हो सकें।

विकास का अवसर है निवेशक -

संभागीय आयुक्त डॉ. राजेश शर्मा ने जोधपुर इन्वेस्ट समिट को संबोधित करते हुए कहा की निवेशक हमारे लिए विकास का अवसर हैं जिनके सहयोग के लिए प्रशासन सदा उपलब्ध रहेगा। उन्होंने कहा कि जोधपुर में निवेश करने के लिए निवेशकर्ताओं को जिला प्रशासन की ओर से भरपूर सहयोग दिया जाएगा । साथ ही नियमों व पॉलिसी में आ रही समस्याओं का त्वरित निस्तारण कर उनके सुलभ और सुगम व्यवसाय को सुनिश्चित करेगा।

जोधपुर इन्वेस्ट के ब्रोशर का विमोचन -

उद्योग मंत्री एवं अतिथियों ने जोधपुर इन्वेस्ट समिट के ब्रोशर का विमोचन भी किया। ब्रोशर में निवेशकों के लिए उपयोगी जानकारियां व राजस्थान में निवेश के नये अवसरों व योजनाओं की जानकारी उपलब्ध है।

कोविड गाइडलाइंस के अनुपालन में संपन्न हुआ जोधपुर इन्वेस्ट समिट

कोविड-19 के बढ़ते प्रसार को देखते हुए जोधपुर इन्वेस्ट समिट के दौरान उपयुक्त कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर की पालना की गई। संपूर्ण कार्यक्रम कोविड-19 गाइडलाइंस के अनुरूप संपन्न हुआ।

जोधपुर इन्वेस्ट समिट में उत्साह से लिया भाग -

जोधपुर इन्वेस्ट समिट में जोधपुर विधायक मनीषा पवार, बिलाड़ा विधायक हीरालाल मेघवाल, भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग, नगर निगम की महापौर कुंती देवड़ा, पूर्व जिला प्रमुख मुन्नी देवी गोदारा, जेडीए कमिश्नर कमल चौधरी, श्वेता चौहान, जिले के उद्योग जगत से जुड़े उद्योगपतियों के साथ ही अन्य जिलों व प्रदेश से आए उद्योगपतियों ने भाग लिया तथा समिट में वीसी के माध्यम से प्रभारी सचिव व चेयरमैन डिस्कॉम भास्कर ए सावंत और राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त धीरज श्रीवास्तव ने भी भाग लिया।




सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें