के. गौधामन के उद्यम को एमएसएमई की अंतर्राष्ट्रीय सहयोग योजना के माध्यम से सफलता के पंख मिले



अपने देश के विकास के प्रति वचनबद्ध होने और एक उद्यमी बनने का सपना मन में लिए, श्री के. गौधामन ब्रिटेन से चेन्नई लौट आये। हालांकि वह एक इंजीनियर होने के साथ-साथ मैनेजमेंट ग्रेजुएट भी हैं, लेकिन उनका उद्यमी बनने का सफर आसान नहीं था। इस यात्रा का शुरुआती चरण गौधामन के लिए बहुत ही भावनात्मक और कठिन समय था क्योंकि अपने व्यवसाय के लिए धन की व्यवस्था करते-करते उन्हें अपनी मां के गहने गिरवी भी रखने पड़े। उनका उद्यम आज सीजेड स्मार्ट मोबिलिटी सॉल्यूशंस पार्किंग और यातायात प्रबंधन के लिए सॉफ्टवेयर तैयार करता है। उन्हें अंतर्राष्ट्रीय सहयोग योजना के रूप में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय से सहयोग मिला, जिसने उनके व्यवसाय को उपलब्धि के एक नए स्तर पर पहुंचा दिया।

श्री गौधामन बताते हैं कि एमएसएमई/एनएसआईसी गए थे। वहां उनसे कहा गया कि यदि आप दुनिया भर में अपने उद्यम को बढ़ावा देना चाहते हैं तो आप अंतर्राष्ट्रीय सहयोग योजना का उपयोग कर सकते हैं। सीजेड स्मार्ट मोबिलिटी सॉल्यूशंस आज विश्व स्तर पर एक जाना-माना ब्रांड है।



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें