इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर बना राजस्थानका हेल्प डेस्क


Advt

यूक्रेन से लौट रहे राजस्थानी विद्यार्थियों के लिए हो रहा है मददगार साबित

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के निर्देशों पर यूक्रेन से आने वाले राजस्थानी स्टूडेंट्स के लिए नई दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर राजस्थान सरकार का हेल्प डेस्क संकट की घड़ी में मददगार साबित हो रहा है।

हेल्प डेस्क 24X7 निरंतर संचालित हो रहा है, जिसमें राजस्थान के मंत्री श्री टीकाराम जूली, श्री सुभाष गर्ग एवं राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त श्री धीरज श्रीवास्तव तथा प्रमुख आवासीय आयुक्त श्रीमती शुभ्रा सिंह की अगुवाई में गठित टीम मुस्तैद रहकर लगातार यूक्रेन में फंसे राजस्थानी विद्यार्थियों से एवं उनके परिजनों से संपर्क बनाकर उन्हें हरसंभव मदद उपलब्ध करा रही है।

इस कड़ी में यूक्रेन से आने वाले राजस्थानी स्टूडेंट्स को उनके घरों तक उनकी सुविधानुसार पहुंचाने के लिए फ्लाइट, ट्रेन, एवं टैक्सी आदि की निशुल्क  व्यवस्था त्वरित रूप से उपलब्ध कराई जा रही है। साथ ही इन विद्यार्थियों को भोजन, पानी, चिकित्सा व्यवस्था आदि उपलब्ध कराई जा रही है।

एयरपोर्ट पर आने वाले विद्यार्थी हेल्प डेस्क की व्यवस्थाओं पर मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत का आभार जता रहे हैं।

अब तक 784 राजस्थानी विद्यार्थी सकुशल पहुंचे अपने घर

राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त श्री धीरज श्रीवास्तव ने बताया कि इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट एवं एयरफोर्स के गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरबेस, मुंबई एयरपोर्ट पर रविवार शाम तक राजस्थान के 784 विद्यार्थी पहुँचे। जिन्हें सकुशल उनके घर पहुंचाया जा चुका है। यूक्रेन में फंसे शेष स्टूडेंट्स से लगातार संपर्क बनाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि आज राजस्थान के 50 छात्र यूक्रेन से दिल्ली पहुंचे हैं।

स्टूडेंट्स एवं परिजनों ने की मुक्त कंठ से राज्य सरकार की व्यवस्थाओं की प्रशंसा

युद्ध ग्रस्त यूक्रेन के खर्कीव शहर से आये अलवर के गांव किथुर निवासी छात्र आदित्य चैधरी को एयरपोर्ट से रिसीव करने आये उनके चाचा मनोज चौधरी ने कहा कि आदित्य खर्कीव में फंसा था, तब पूरा परिवार चिंताग्रस्त था। राज्य सरकार के द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर के माध्यम से उन्होंने राजस्थान फाउंडेशन के आयुक्त श्री धीरज श्रीवास्तव के दूरभाष पर आदित्य चौधरी की वापसी के संदर्भ में जब भी, जिस भी समय फोन किया, तब ही उन्होंने तुरंत उठाया। साथ ही आगे बढ़कर आदित्य की कुशलक्षेम की लगातार सूचनाएं उन्होंने संप्रेषित की।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार अपने प्रवासी विद्यार्थियों के लिये वास्तव में अच्छा काम कर रही है। यूक्रेन से आए टोंक निवासी छात्र फराज मोहम्मद, बूंदी निवासी छात्रा यश कंवर, जोधपुर निवासी छात्र महादेव चैरिया एवं उदयपुर निवासी छात्रा अस्मिता सहित हर प्रवासी राजस्थानी स्टूडेंट्स ने राज्य सरकार द्वारा की गई व्यवस्थाओं की मुक्त कंठ से सराहना की।

विपुल को परिजनों के पास फ्लाइट से बनारस भेजा

यूक्रेन से आए राजस्थान के राजसमंद निवासी छात्र विपुल को उनके परिजनों के पास बनारस भेजा गया। दिल्ली एयरपोर्ट पर आने के उपरांत विपुल को मालूम हुआ कि उनके परिजन बनारस गए हुए हैं तथा उनको आने में अभी समय लगेगा। इस पर श्री धीरज श्रीवास्तव ने विपुल की इच्छानुसार फ्लाइट से उन्हें बनारस के लिए रवाना किया।

Also Read : यूक्रेन से आईं राजस्थानी छात्राएँ फ़्लाइट से जयपुर पहुँची मुख्यमंत्री श्री गहलोत को दिया धन्यवाद


Advt



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें