37 लाख लीटर क्षमता के उच्च जलाशय की गुणवत्ता देखने पहुँचे राजस्व मंत्री चौधरी

-20 फिट ऊँचाई की सीढियां चढ़ चौधरी ने परखा नव निर्माण
- 50 गाँवो को मिलेगी पेयजल समस्या से मुक्ति 
बाड़मेर/बायतु, 14 जनवरी। सरहदी बाड़मेर में पेयजल जनता के लिए चुनौती रहा है ऐसे में राज्य सरकार द्वारा जनता की इस स्थायी समस्या के समाधान के लिए तेजी से कार्य किए जा रहे है। ऐसे ही दर्जनों गाँवो का हलक तर करने के लिए बन रहे वाटर स्टोरेज प्लांट को देखने के लिए राजस्व मंत्री हरीश चौधरी अपने विधानसभा क्षेत्र के बनिया संडा धोरा पर निर्माणाधीन हौज पहुँचे। यहाँ उन्होनें 20 फिट ऊंचे जलाशय पर बनी कच्ची सीढ़ियों पर चढकर नवनिर्माण कार्य का जायजा लिया। राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने 37 लाख लीटर की पेयजल क्षमता के बन रहे जलाशय का अवलोकन कर उसकी गुणवत्ता को देखा। 
राजस्व मंत्री हरीश चौधरी रेतीले धोरे पर बन रहे है 20 फिट ऊंचे निर्माणाधीन जलाशय की छत की गुणवत्ता देखने के लिए कच्ची सीढियां से चढ़े और निर्माणाधीन बड़े जलाशय की छत पर पहुंचकर कार्यरत श्रमिकों से जानकारी ली। साथ ही उन्होंने अधिकारियों को निर्धारित समयावधि में काम को पूर्ण करने के निर्देश दिए।

50 गाँवो को मिलेगी पेयजल समस्या से मुक्ति:  
बनिया संडा धोरा में ऊंचाई पर दो करोड़ की लागत से बन रहे हौज में पानी बाड़मेर लिफ़्ट केनाल से आएगा। 37 लाख लीटर पानी की क्षमता व अंदर की 35 मीटर की परिधि है वहीं 4 मीटर उंचाई के इस हौज का कार्य पूर्ण होने के बाद बायतु पंचायत समिति के आसपास के लीलाला, हेमजी का तला, बायतु भोपजी, बायतु चिमनजी, माधासर, खींवलीया सरा, नया सोमेसरा व चांदेसरा में बने रहे ओवर हेड टँकीया में पाइप लाइन से पानी पहुंचाया जाएगा जहां से आसपास के करीब 50 गांवो में पेयजल सप्लाई होगी। इसी तरह घर घर कनेक्शन का सर्वेक्षण कार्य का काम जुलाई तक पूरा हो जाएगा। सर्वेक्षण का कार्य पूर्ण कर योजना स्वीकृत करवाई जाएगी। गौरतलब है कि इस जलाशय के पूर्ण निर्माण के बाद लोगो को पानी की स्थायी समस्या से राहत मिल जाएगी।

सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें