हाउसिंग बोर्ड की रियल स्टेट मार्केट में चमक बरकरार, दिसम्बर माह में अर्जित किया 112 करोड़ रूपये का राजस्व


Advt

आवासन आयुक्त श्री पवन अरोड़ा ने बताया कि राजस्थान आवासन मंडल की रियल स्टेट मार्केट में चमक बरकरार है। गत दिसम्बर महीने में मंडल की 458 सम्पत्तियां बिकीं, जिससे मंडल को 112 करोड़ का राजस्व मिला। उल्लेखनीय है कि मण्डल की 22 प्रीमियम सम्पत्तियां ई-ऑक्शन के माध्यम से बिकीं, जिससे मण्डल को 73 करोड़ 80 लाख रूपये का राजस्व मिला। बुधवार नीलामी उत्सव ई-बिड सबमिशन योजना में एक माह में 436 सम्पत्तियां बिकीं जिससे मण्डल को 38 करोड़ 45 लाख रूपये का राजस्व मिला। 

प्रताप नगर में 3 बड़े व्यावसायिक भूखंड बिके 61 करोड़ 83 लाख रुपये में 

आयुक्त ने बताया कि मंडल की प्रताप नगर योजना में प्रताप नगर महल रोड एवं हल्दी घाटी मार्ग पर जयपुर चौपाटी के पास स्थित 3 बडे व्यावसायिक भूखंड 61 करोड़ 83 लाख रूपये में बिके। प्रोपर्टी एक्सपर्ट का मानना है कि मंडल द्वारा प्रताप नगर में विकसित जयपुर चौपाटी, कोचिंग हब, राणा सांगा मार्केट और एआईएस रेजीडेंसी जैसी प्रीमियम योजनाओं की वजह से यहां प्रोपर्टी में बूम आया है। उसका ही परिणाम है कि मंडल के बड़े व्यावसायिक भूखंड भी अपने न्यूनतम विक्रय मूल्य से अधिक कीमत पर बिक रहे हैं।  

आरएचबी आतिश मार्केट की 4 दुकानें बिकी  2 करोड़ 81 लाख रुपये में 

आयुक्त ने बताया कि मण्डल द्वारा मानसरोवर योजना में विकसित आरएचबी आतिश मार्केट की 4 दुकानें अपने निर्धारित न्यूनतम विक्रय मूल्य से लगभग दोगुनी से ज्यादा कीमत में बिकीं। यहां की 2 दुकानें जिनकी कीमत़ 14 लाख 87 हजार 500 रुपये थी, वह 62 लाख 44 हजार रूपये में बिकीं। उल्लेखनीय है कि इनका न्यूनतम विक्रय मूल्य 1 लाख 19 हजार रुपये प्रति वर्गमीटर था, जो क्रमशः 5 लाख 5 हजार 555 रुपये प्रति वर्गमीटर और 4 लाख 93 हजार 551 रुपये प्रति वर्ग मीटर में बिकीं। 

राणा सांगा मार्केट प्रताप नगर की 9 दुकानें बिकीं 5 करोड़ 20 लाख रूपये में 

राजस्थान आवासन मंडल द्वारा प्रताप नगर में विकसित राणा सांगा मार्केट की 9 दुकानों के विक्रय से 5 करोड़ 20 लाख रुपये का राजस्व मिला। ये सभी दुकानें अपने न्यूनतम विक्रय मूल्य से अधिक कीमत में बिकीं। 

बुधवार नीलामी उत्सव में बिकीं 436 सम्पत्तियां, मिला 38 करोड़ 45 लाख रूपये का राजस्व
जयपुर वृत्त प्रथम, द्वितीय और तृतीय में बिके 131 आवास, मिला 11 करोड़ 46 लाख रुपये का राजस्व

श्री अरोड़ा ने बताया कि बुधवार नीलामी उत्सव ई-बिड सबमिशन योजना के तहत गत माह में 436 सम्पत्तियां बिकीं, जिससे मंडल को 38 करोड़ 45 लाख रूपये का राजस्व मिला। उन्होंने बताया कि जयपुर वृत्त प्रथम, द्वितीय और तृतीय में 131 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 11 करोड़ 46 लाख रूपये का राजस्व मिला, जोधपुर वृत्त प्रथम और द्वितीय में 37 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 5 करोड़ 37 लाख रुपये का राजस्व मिला, बीकानेर वृत्त में 205 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 12 करोड 61 लाख रुपये का राजस्व मिला, उदयपुर वृत्त में 48 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 6 करोड 48 लाख रुपये का राजस्व मिला, अलवर वृत्त में 9 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 1 करोड़ 54 लाख रुपये का राजस्व मिला और कोटा वृत्त में 6 सम्पत्तियां बिकी, जिससे मण्डल को 99 लाख रुपये का राजस्व मिला 


Advt



सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें