संविदा आयुष चिकित्सकों ने नियमितीकरण की मांग को लेकर शहर विधायक को... - Sangri Times

SPORTS

संविदा आयुष चिकित्सकों ने नियमितीकरण की मांग को लेकर शहर विधायक को ज्ञापन दिया

सांगरी टाइम्स  
मदनसिंह राजपुरोहित  
जोधपुर
। लगातार सात दिनों से कार्य बहिष्कार कर रहे संविदा आयुष चिकित्सकों ने सोमवार को शहर विधायक श्रीमती मनीषा पवार को मुख्यमंत्री महोदय के नाम ज्ञापन दिया। इस पर  शहर विधायक  ने आयुष चिकित्सकों को  ठोस आश्वासन दिया  कि वे  आगामी विधानसभा सत्र में  इस मुद्दे पर  चर्चा करेंगी  तथा  चिकित्सा मंत्री महोदय से भी  इस बारे में  वार्तालाप करेंगे। आयुष संयुक्त संघर्ष समिति की जिला इकाई के उपाध्यक्ष डॉ जितेंद्र सोलंकी ने बताया की राजस्थान प्रदेश में 2000 संविदा आयुष चिकित्सक राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम व विभिन्न स्वास्थ्य केंद्र पर कार्यरत हैं। पिछले 3 वर्षों से संविदा आयुष चिकित्सक अपनी मांगे बनवाने के लिए प्रयासरत हैं जिसमें सरकार द्वारा चुनावी घोषणा पत्र में उनको नियमित किया जाना मुख्य मांग है। साथ ही जब तक नियमितीकरण की प्रक्रिया पूर्ण नहीं होती तब तक उनका मानदेय 2010 की भांति बढ़ाकर 39300 किया जाने की भी मांग हैं।

वर्तमान में उनको मिलने वाला मानदेय मात्र 22180 हैं जोकि एक चिकित्सक को मिलने वाले न्यूनतम मूल वेतन से काफी कम है। वर्तमान में वैश्विक महामारी कोरोना की रोकथाम हेतु आयुष चिकित्सक फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर्स के रूप में कार्यरत हैं जो इस महामारी मैं संक्रमित कोरोना सर्विलांस रैपिड रिस्पांस टीम सेंपलिंग मोबाइल ओपीडी आदि में अपनी जान जोखिम में डालकर राज्य हित में अल्प वेतन में निष्ठा पूर्वक निरंतर सेवा कार्य कर रहे हैं। इस क्रम में पूर्व में भी कई बार राज्य सरकार मुख्यमंत्री महोदय चिकित्सा मंत्री महोदय मुख्य सचिव महोदय को भी मांगों को लेकर अवगत कराते रहे हैं हाल ही में चिकित्सा मंत्री महोदय ने मानदेय वृद्धि हेतु कमेटी का गठन किया नियम अनुसार गठित कमेटी ने आयुष चिकित्सकों की मांगों की अनुशंसा करके पत्रावली भेज दी परंतु कोई कार्यवाही नहीं होने से समस्त आयुष चिकित्सकों में असंतोष है इसी कारण सभी संविदा आयुष चिकित्सक 7 अगस्त से 10 अगस्त तक काली पट्टी बांधकर पेन डाउन किया था तथा पिछले 7 दिनों से कार्य बहिष्कार कर रहे हैं। आयुष चिकित्सक संयुक्त संघर्ष समिति के अनुसार यदि उनकी मांगों का निराकरण नहीं होता है तो प्रदेश में कार्यरत समस्त संविदा आयुष चिकित्सक सामूहिक इस्तीफा देने को विवश होंगे।

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

loading...