कृति रच रही कृतियां, बेटियों को सीखा रही जीएसटी-टैली, व्यापार का हुनर

अब तक 250 से अधिक बालिकाओं को दिया जीएसटी-टैली कम्प्यूटर का प्रशिक्षण

बाड़मेर । देश और दुनिया भर में महिलाओं को सशक्त व स्वावलम्बी बनाने को लेकर बड़े स्तर पर सरकारी व निजी प्रयास हो रहे है । जिसके सुखद परिणाम भी आ रहे है और महिलाएं तमाम क्षेत्रों में अपना लोहा मनवा रही है । महिलाओं की प्रगति व उन्नति में महिलाएं स्वयं भी भरपूर मेहनत से लगी हुई है । ऐसे में थार नगरी बाड़मेर में एक बेटी, बेटों से भी आगे बढ़कर, अखबारों व नाम की चकाचैंध दूर रहकर नारी सशक्तिकरण के क्षेत्र में बहुत ही नायाब काम कर रही है । जो सबसे अनूठा व लाजवाब है।

जी, हां हम बात कर रहे है कृति बोहरा की । जो स्वयं पढ़ते हुए बेटियों को सशक्त व स्वावलम्बी बनाने का काम कर रही है । कृतिका बोहरा पिछले दो-तीन वर्षाें से जैन समाज की बेटियों को बदलते हुए युग और समय में व्यापार की बारीकियां सीखा रही है । कृतिका बोहरा जैन जागृति मंच के बैनरतले जैन समाज की बेटियों को जीएसटी-टैली का ज्ञान करा रही है । वह अब तक 250 से अधिक बेटियों को जीएसटी-टैली एवं बेसिक कम्प्यूटर शिक्षा का ज्ञान दे चुकी है।  कृति बोहरा का सपना है कि हर बेटी सशक्त बनें और अपने परिवार के लिए सहारा बनें । वे प्राप्त ज्ञान के सहारे स्वावलम्बी बनें और धनार्जन करें । इसी भावों को आकार देने को लेकर कृतिका पिछले दो-तीन वर्षाें से जैन जागृति मंच, बाड़मेर के साथ मिलकर बेटियों को कम्प्यूटर शिक्षा विशेषकर जीएसटी-टैली का ज्ञान करा रही है और उन्हें हर प्रकार की छोटी से छोटी बारीकियों को इस कद्र समझ रही है जैसे कल इन बेटियों को ही व्यापार-करोबार में उतरना है ।

kriti

जैन जागृति मंच, बाड़मेर के सचिव मुकेश बोहरा अमन का कहना है कि बेटियों को जीएसटी-टैली सिखाने के प्रति कृति बोहरा का जज्बा लाजवाब है । वह पूरे अनुशासन व शिद्दत के साथ इस कार्य को कर रही है । कृतिका बोहरा की यह पहल बेहद शानदार और प्रशंसनीय है । कृतिका बोहरा का यह प्रयास निःसंदेह कम्प्यूटर सीखने वाली बेटियों के भावी जीवन में बेहद उपयोगी साबित होगा  और वे व्यापार में अपने परिजनों की मददगार बनेगी। कृति बोहरा के सहरानीय कार्याें को देखते हुए जैन जागृति मंच, बाड़मेर भी उन्हें समय-समय पर सम्मानित करता रहा है । जो यही दर्शाता है कि कृति बोहरा का कार्य के प्रति कितना समर्पण है । देश और समाज में बेटियों के इसी प्रकार के योगदान से सही मायनों में नारी सशक्तिकरण हो पायेगा और बेटियों को समाज में सही स्थान मिल पायेगा ।

कृति बोहरा का कहना है कि बाड़मेर जैन समाज की समस्त बालिकाएं अपने हुनर का उचित उपयोग कर आगे बढ़े ताकि उनको किसी पर निर्भर नहीं रहना पड़े। मै अभिभावकों से एक विनती करना चाहती हू की वो अपनी बेटियो को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करे उनके हुनर को तराशे  और उन्हें आत्मनिर्भर बनने में सहयोग करे ।

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

Related Articles