राजस्थान में स्माइल कैंपेन के कारण नहीं थमी 3.5 लाख छात्रों की शिक्षा

जयपुर: महामारी से लड़ने के लिए, राजस्थान शिक्षा विभाग ने स्माइल कैंपेन के माध्यम से ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में 3.5 लाख छात्रों को ऑनलाइन कक्षाएं प्रदान की।  कक्षा 1 से 12 तक छात्रों और शिक्षकों को व्हाट्सएप के माध्यम से प्रत्येक विषय के लिए 4 से 5 वीडियो के मॉड्यूल को निशुल्क और सार्वजनिक रूप से उपलब्ध कराया गया है। प्रत्येक दिन वीडियो की अवधि 30-40 मिनट के साथ औसतन 3.5 लाख छात्र शिक्षा ग्रहण करते है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मार्गदर्शन में, स्माइल कैंपेन (सोशल मीडिया इंटरफेस फॉर लर्निंग इंगेजमेंट) की पहल अप्रैल में शुरू हुई।  

राजस्थान काउंसिल ऑफ़ स्कूल एजुकेशन के आयुक्त डॉ. भंवर लाल ने कहा, “ लॉकडाउन के दौरान, प्रदेश में हमारी ग्रामीण और शहरी टीम ने स्माइल अभियान शुरू करने के लिए आगे आई। हालांकि, ग्रामीण और शहरी क्षेत्र के छात्रों के पास स्मार्टफ़ोन नहीं थे या इंटरनेट सुविधा नहीं थी। इसीलिए नायाब पहल में अध्यापकों  ने छात्रों के घर जाना शुरु किया गया। शिक्षकों ने छात्रों के घर दौरा कर उनकी शंकाओं को दूर किया और होमवर्क दिया गया। शुरुआत से ही हमें पता था कि छात्रों की ज़रूरतों को पूरा करना आसान नहीं है, लेकिन हमने अपने शिक्षकों की मदद से कैंपेन को सफलतापूर्वक किया है। ”


सांगरी टाइम्स हिंदी न्यूज़ के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन और टेलीग्राम पर जुड़ें .
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBEचैनल को विजिट करें