जोधपुर: रास्ता उपलब्ध करवाकर अनुकरणीय पहल करने पर राजस्व मंत्री... - Sangri Times

SPORTS

जोधपुर: रास्ता उपलब्ध करवाकर अनुकरणीय पहल करने पर राजस्व मंत्री जताया आभार

- जोधपुर के नन्दवान गांव में 35 साल से 5 किमी ज्यादा चलकर गांव पहुंच रहे थे लोग, पीड़ा देख रास्ते के लिए गांव के ही मांगीलाल व उनके पुत्र श्रवण कुमार द्वारा की गई अनुकरणीय पहल पर प्रदेश के सवेंदनशील राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने स्वागत करते हुए प्रशंसा पत्र जारी करते हुए कहा कि जोधपुर के मांगीलाल जी ने पड़ोसियों को रास्ता उपलब्ध करवाकर अनुकरणीय पहल की है। ऐसे अनुकरणीय उदाहरण समाज को आगे बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं। उन्होंने कहा कि बाकी लोग भी इनसे प्रेरणा लें ।

जोधपुर: राजस्थान हमेशा से ही त्याग और बलिदान की भूमि रहा है फिर बात चाहे पन्ना धाय की हो जिन्होंने अपना कर्त्तव्य निभाने की खातिर अपने पुत्र का बलिदान दे दिया या फिर भामाशाह की, जिन्होंने अपने प्रदेश के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। ये ऐसी महान विभूतियां हैं जिनकी मिसाल आज तक भी दी जाती है और आगे भी कई सदियों तक दी जाती रहेगी। कुछ इसी तरह का हौसला दिखाया जोधपुर ज़िले की ग्राम पंचायत नंदवान के निवासी 80 वर्षीय मांगीलाल और उनके पुत्र श्रवण ने। जब उन्होंने देखा कि पिछले 35 सालों से 25 ढाणियों के लोगों को 5 किलोमीटर अतिरिक्त चलकर अपने गांव आना-जाना पड़ता है तो उन्होंने उनकी मदद करनी चाही और इसके लिए अपनी 48 बीघा जमीन में से 700 फीट लंबी और 24 फीट चौड़ी जमीन सहर्ष दान कर दी। यह इसलिए ताकि इन लोगों की पीड़ा को वे किसी तरह कुछ हद तक कम कर सकें। इतना ही नहीं उन्होंने कोतों की ढाणी स्थित राजकीय प्राथमिक विद्यालय कोतों की ढाणी के लिए भी डेढ़ बीघा जमीन और एक रसोईघर बनाकर दान कर दिया। इससे वहां पढ़ने वाले विद्यार्थियों और स्टाफ को भी सहूलियत हुई है। बकौल श्रवण, पिताजी कहते हैं कि इंसान न कुछ लेकर आता है और न ही कुछ साथ लेकर जाता है। इसी बात को आत्मसात करते हुए उन्होंने यह फैसला किया। मांगीलाल और श्रवण की इस अनूठी पहल के लिए खुशी जताते हुए राजस्थान सरकार में सवेंदनशील राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने दोनों की सराहना की है और धन्यवाद दिया। मंत्री चौधरी ने कहा कि आज के इस आधुनिकता के दौर में जहां हर कोई एक-दूसरे से आगे निकलने की होड़ में लगा हुआ है, ऐसे में इस तरह की पहल अनुकरणीय है। इसके साथ ही मंत्री चौधरी ने यह भी उम्मीद जताई कि उन्होंने जो यह मिसाल पेश की है उससे उम्मीद है कि और लोग भी प्रेरणा अवश्य ही लेंगे। राजस्व मंत्री ने सभी प्रदेशवासियों से आह्वान किया कि आपसी सामंजस्य एवं भाईचारे से इस तरह के मामलों का समाधान करें। राजस्व विभाग राज्य के समस्त खातेदारों हित में सदैव तत्पर है।

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

loading...