तपती दोपहरी में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने गिड़ा क्षेत्र में देखे... - Sangri Times

SPORTS

तपती दोपहरी में राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने गिड़ा क्षेत्र में देखे राहत के कार्य

- राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने गिड़ा क्षेत्र में मनरेगा के तहत चल रहे कार्यो को जाँचा, कहा मनरेगा योजना कोरोना काल में लोगों के लिए लाइफलाइन बनी।

- दिव्यांग सुजाराम भील के परिवार को दिया आर्थिक संबल।

बाड़मेर/गिड़ा: जून माह की तपती दोपहरी में तापमान करीब 46 डिग्री होने के बावजूद भी गिड़ा क्षेत्र के दानपुरा ग्राम पंचायत में कालमा भीलों की ढाणी में चल रहे मनरेगा के तहत सड़क कार्य का राजस्व मंत्री  हरीश चौधरी अचानक निरीक्षण करने पहुँचे। तो वहां कार्य कर रहे श्रमिको के चेहरे मानो खिल उठे। राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने श्रमिको को मिल रहीं मजदूरी व अन्य समस्याओं के बारे में हालचाल जाने तो श्रमिक सरिया देवी के खुशी के आँसू छलक आये तथा कहने लगी कि साहब इस बीमारी की वजह से निकमे बैठे थे मगर नरेगा में काम आने पर हमें रोजगार मिल गया। 

वहीँ नोजी देवी ने कहा कि नरेगा में काम मिलने के बाद उनके अब घर चलाना आसान हो रहा हैं। राजस्व मंत्री हरीश चौधरी मंगलवार को गिड़ा क्षेत्र के विभिन्न गाँवो के दौरे पर रहे। दोपहर करीबन 12 बजे दानपुरा ग्राम पंचायत के इस कालमों भीलों की ढाणी में चल रहे मनरेगा कार्य का निरीक्षण करने पहुँचे तो वहां श्रमिक काम करते हुए मिले इन श्रमिको के बीच नीचे जमीन पर बैठकर करीब एक घंटे तक राजस्व मंत्री ने उनसे बातचीत करके समस्याए जानी तथा सरकार की तरफ से मिलने वाली राशन सामग्री के बारे में  पूछा तो सभी ने हामी भरी। मौके पर उपस्थित ग्रामीण नेनाराम व नरसिंगराम भील के साथ सभी लोगों ने एक स्वर में मांग रखी कि उनके पेयजल संकट से निजात दिलाने के लिए स्थाई स्रोत के रूप में एक होदी का निर्माण करवाया जाए। उनकी समस्या का तत्काल निदान करते हुए राजस्व मंत्री हरीश चौधरी ने मौके पर उपस्थित प्रशासनिक अधिकारियों व जलदाय विभाग के सहायक अभियंता को निर्देशित किया कि एक माह के भीतर ही पेयजल के स्थाई स्रोत के रूप होदी का निर्माण कार्य पूर्ण कर रिपोर्ट पेश करे।

दिव्यांग सुजाराम को दी नगद आर्थिक सहायता- 

दानपुरा निवासी दिव्यांग सुजाराम के लिए राजस्व मंत्री हरीश चौधरी का ये दौरा वरदान साबित हुआ। राजस्व मंत्री ने निजी खर्चे से दिव्यांग सुजाराम की माता को नकद अर्थिक सहायता दी वहीं सूजाराम ने पूर्व में भी राजस्व मंत्री द्वारा दी गई राहत सहायता के लिए भी आभार जताया।

नेनुदेवी को नब्बे साल में पहली बार हुआ काम का अहसास- करीब 70 साल पहले शादी के बाद पाकिस्तान से भारत आई नब्बे वर्षिय नेनु देवी भील ने पहली बार किसी मंत्री को अपनी चौखट पर आया देख खुशी जताते हुए कहा कि दूर दराज के धोरो में सदियों से बैठें हैं। पहली बार किसी मंत्री ने आकर हमारी सुध ली ये हमारा सौभाग्य है। इस दौरान दानपुरा सरपंच भैराराम खोंड व गिड़ा विकास अधिकारी रामनिवास बाबल ने गाँव मे चल रहे मनरेगा कार्यो के बारे में राजस्व मंत्री को अवगत कराया। 

नाडी में बरसाती पानी आया देख अभिभूत हुए राजस्व मंत्री- परम्परागत जल स्रोतों को सहेजने तथा क्षेत्र में मॉडल तालाब विकसित करने के उद्देश्य से नाडी तालाबो का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने निम्बा की ढाणी ग्राम पंचायत में स्थित चिलानाड़ी का निरीक्षण किया तो उसमे बरसाती पानी को देखकर राजस्व मंत्री अभिभूत हुए व कहा कि इस नाडी के तर्ज पर क्षेत्र की अन्य नाड़ियों व तालाबो को भी इस तरह से विकसित किया जाए तो गंभीर पेयजल संकट से जुंझ रही बड़ी आबादी को पीने का बरसाती पानी मिल जाएगा। इस मौके पर पूर्व उप प्रधान टीकमचंद लेघा ने इस चिलानाडी का जलभराव समता व केचमेंट एरिया के बारे में अवगत करवाते हुए इस नाडी के पक्के निर्माण कार्य की मांग की। इस मौके पर राजस्व मंत्री ने कहा कि जिस मनरेगा जैसी योजना को केंद्र सरकार विफल बता रही हैं वही योजना इस समय ग्रामीण क्षेत्र के लोगो के लिए लाइफलाइन बनी हुई हैं। इस मौके पर गिडा प्रधान लक्ष्मणराम चौधरी ने क्षेत्र के नाड़ी तालाबों की जानकारी दी।

Sangri Times News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें.

loading...