5 अप्रैल को रिलीज होगी मेरी मां कर्मा

इस फिल्म में ऑन और ऑफ स्क्रीन दोनों ही जगहों पर महिलाओं ने बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस फिल्म को 25 साल की सिनेमैटोग्राफर आरुषि ने शूट किया है।

5 अप्रैल को रिलीज होगी मेरी मां कर्मा
5 अप्रैल को रिलीज होगी मेरी मां कर्मा

 25 साल की सिनेमैटोग्राफर ने शूट की फिल्म; सतलज इंदौरी ने लिखे फिल्म के गाने इंदौर| हमारे देश में जितना पॉपुलर बॉलीवुड सिनेमा का कल्चर है, उतना ही पॉपुलर रीजनल (क्षेत्रीय) सिनेमा का है। इन दिनों रीजनल सिनेमा एक बार फिर दर्शकों के बीच अपनी पकड़ बना रहा है। ऐसे में इसी को आगे बढ़ाने के लिए पॉपकॉर्न फिल्म्स 5 अप्रैल को सिनेमाघरों में फिल्म मेरी मां कर्मा लेकर आ रहे हैं। यह एक पूर्ण पारिवारिक-एंटरटेनर फिल्म है। इस फिल्म को देखते हुए आपको जितना मजा आएगा, उतना ही रोना भी आएगा। इसके साथ ही मेरी मां कर्मा की कहानी से आपको मोटिवेशन मिलेगा। मोटिवेशन भी ऐसा कि आप अपने जीवन में कुछ कर गुजरने की हिम्मत करेंगे। यह फिल्म हिंदी भाषा में रिलीज हो रही है। यह पॉपकॉर्न की पहली फिल्म नहीं है। इसके पहले ले चलहुं अपनी दुआरी का भी निर्माण कर चुके हैं। आदि काल से ही महिलाएं पुरुषों का साथ देती आ रही हैं। दोनों एक ही गाड़ी के पहिए हैं, अगर एक हट जाए तो गाड़ी का आगे बढ़ना मुश्किल होगा। ऐसे में अब दौर ऐसा है कि महिलाओं पर केंद्रित फिल्में भी आनी चाहिए। इस फिल्म में ऑन और ऑफ स्क्रीन दोनों ही जगहों पर महिलाओं ने बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। इस फिल्म को 25 साल की सिनेमैटोग्राफर आरुषि ने शूट किया है। मेरी मां कर्मा के बारे में यह कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा कि यह एक महिला केंद्रित फिल्म है। मेरी मां कर्मा में हैं मंझे कलाकार बात करें मेरी मां कर्मा की तो इसमें रीजनल से लेकर बॉलीवुड के मंझे हुए कलाकारों के अभिनय को देखने को मिलेगा। फिल्म में कर्मा का किरदार छत्तीसगढ़ में अपनी अच्छी पहचान बना चुकीं अभिनेत्री कुकी स्वाएन ने निभाया है। वहीं, फिल्म में ओंकार दास मानिकपुरी, सानंद वर्मा अल्का आमिन, इश्तियाक खान, भगवान तिवारी और सुनीता राजवर जैसी एक्टर्स भी अहम किरदार में नजर आएंगे। इसके अलावा फिल्म का संगीत भी बेहद अहम है। इसके हिंदी गानों को जावेद अली, अनुराधा पौडवाल, शाहिद माल्या और साधना सरगम ने गाया है। वहीं, फिल्म के गाने अस्तम में रहूं को इंदौर के सतलज इंदौरी ने लिखा है। 5 अप्रैल को रिलीज होने वाली इस फिल्म को मृत्युंजय सिंह ने डायरेक्ट किया है। वहीं, फिल्म को कौस्टेन साहू ने लिखा है और इसकी सिनेमैटोग्राफी आरुषी बागेश्वर ने की है।