ज्योतिषी ऋतु सिंह द्वारा लिखित पुस्तक “सात अनाश्य हैं ब्रह्माण्ड के अंत तक” अमेजॉन और गूगल पर रिलीज 

भारत की प्रसिद्ध ज्योतिषी ऋतु सिंह द्वारा लिखित पुस्तक “सात अनाश्य हैं ब्रह्माण्ड के अंत तक” हाल ही में Amazon Kindle और गूगल बुक्स पर रिलीज हुई. पुस्तक के बारे में बात करते हुए ऋतु सिंह ने कहा कि ” सृष्टि के आरंभ से ही 7 अंक स्वीकार्य रूप से जुड़ा हुआ है जिसको एक […]

Jun 14, 2023 - 14:12
Jun 14, 2023 - 14:18
 0
ज्योतिषी ऋतु सिंह द्वारा लिखित पुस्तक “सात अनाश्य हैं ब्रह्माण्ड के अंत तक” अमेजॉन और गूगल पर रिलीज 
ज्योतिषी ऋतु सिंह द्वारा लिखित पुस्तक “सात अनाश्य हैं ब्रह्माण्ड के अंत तक” अमेजॉन और गूगल पर रिलीज 

भारत की प्रसिद्ध ज्योतिषी ऋतु सिंह द्वारा लिखित पुस्तक “सात अनाश्य हैं ब्रह्माण्ड के अंत तक” हाल ही में Amazon Kindle और गूगल बुक्स पर रिलीज हुई. पुस्तक के बारे में बात करते हुए ऋतु सिंह ने कहा कि ” सृष्टि के आरंभ से ही 7 अंक स्वीकार्य रूप से जुड़ा हुआ है जिसको एक वृहद और विस्तृत रूप प्रदान करने के क्रम में यह पुस्तक एक और सार्थक एवं भागीरथ प्रयास है ”

आपको बता दें कि ऋतु सिंह भारत की प्रसिद्ध एस्ट्रोलॉजर हैं. उनकी बहुत सारी भविष्यवाणियां समय-समय पर सटीक परिणाम के साथ सिद्ध हुई हैं. इन भविष्यवाणियों में भारत के कई बड़े राजनेता जिनमें भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, लालू प्रसाद यादव जैसे नाम भी शामिल है. बॉलीवुड जगत में भी उनकी भविष्यवाणियां सत्य साबित हुई हैं जिनमें अमिताभ बच्चन, गोविंदा जैसे बड़े कलाकार भी शामिल है.

भारत के अलावा ज्योतिषी ऋतु सिंह दुबई, श्रीलंका, थाईलैंड जैसे देशों के लोगों को भी परामर्श देती है. हाल ही में ज्योतिषी ने अपना दुबई दौरा पूरा किया जहां सैकड़ों की संख्या में लोगों ने पहुंचकर उनसे परामर्श लिया. एक अच्छी ज्योतिषी होने के साथ-साथ डॉ ऋतु सिंह मोटिवेशन स्पीकर और अध्यात्म से भी जुड़ी हैं.

ज्योतिषी के द्वारा लिखित पुस्तक “सात अनाश्य हैं ब्रह्माण्ड के अंत तक” रिलीज होने के बाद बॉलीवुड जगत से भी कई हस्तियों ने उन्हें शुभकामनाएं दी जिनमें मशहूर कलाकार पंकज बेरी, जसपिंदर नरूला, शावर अली इत्यादि शामिल हैं. भारत के राष्ट्रीय टेलीविजन चैनल रिपब्लिक भारत, भारत 24, सहारा पर ज्योतिषी ऋतु सिंह अपने दर्शकों को लाइव परामर्श देती है.

https://play.google.com/store/books/details?id=bsPDEAAAQBAJ&pli=1